Nz vs Ind: टीम इंडिया के लिए एक साथ मैदान में उतरे पांड्या बंधू, खास क्लब में हुए शामिल

हार्दिक पांड्या और क्रुणाल पांडेय

न्यूजीलैंड ने पहले T20 मैच में भारत को 80 रनों से करारी शिकस्त दी। इस मैच में भारत ने गेंदबाजी और बल्लेबाजी दोनों में खराब प्रदर्शन किया। टीम इंडिया ने पहले T20 मैच में अंतिम एकादश में क्रुणाल पांड्या, ऋषभ पंत और खलील अहमद को जगह दी। जबकि हार्दिक पांड्या पहले से ही टीम का हिस्सा थे।दिलचस्प बात यह है कि हार्दिक और क्रुणाल दोनों भाई हैं और यह पहली बार है जब दोनों भाई टीम इंडिया के लिए अंतरराष्ट्रीय मैच खेल रहे हैं। इनसे पहले भारत के लिए दो भाईयों की जोड़ियां ऐसी हैं जो इंटरनेशनल मैच एक साथ खेल चुकी हैं।

इसे भी पढ़ें:पहले टी-20 मैच में शर्मनाक हार का रोहित ने बताई ये बड़ी वजह, जानें क्या कहा

हार्दिक और क्रुणाल दोनों भाई आईपीएल में मुंबई इंडियन्स के लिए खेलते हैं। लेकिन ये दोनों वेलिंग्टन में पहली बार एक साथ टीम इंडिया के लिए खेले।  क्रुणाल ने इससे पहले भारत के लिए 6 टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेल चुके हैं। वहीं हार्दिक अनुभवी खिलड़ियों की श्रेणी आ गए हैं।हार्दिक-क्रुणाल से पहले दो भाईयों की जोड़ियां भारत के लिए एक साथ अंतरराष्ट्रीय मैच खेले हैं। भारत के लिए मोहिंदर अमरनाथ और सुरिंदर अमरनाथ एक साथ 3 वनडे मैच खेले चुके हैं। यह जोड़ी भारत के लिए प्रभावी प्रदर्शन कर चुकी है। वहीं इरफान पठान और युसूफ पठान भारत के लिए 8 वनडे और 8 टी-20 मैच खेल चुके हैं। ये दोनों भी टीम इंडिया के लिए अच्छा प्रदर्शन कर चुके हैं।
दिलचस्प बात यह है कि पठान बंधुओं की भांति  पांड्या बंधु भी  ऑलराउंडर की भूमिका निभाते हैं । वहीं, अमरनाथ भाईयों की बात करें तो मोहिंदर अमरनाथ  लाजवाब ऑलराउंडर थे।जबकि सुरेंद्रनाथ अपने बल्लेबाजी के लिए जाने जाते थे।

इसे भी पढ़ें: धोनी विश्व कप में नंबर 4 पर खेलें या 5 पर, जानिए क्या है पूर्व कोच अनिल कुंबले की राय

इस मैच में हार्दिक-क्रुणाल के प्रदर्शन पर बात करें तो क्रुणाल पांड्या ने गेंद और बल्ले दोनों से अच्छा खेल दिखाया। हार्दिक पांड्या को इस मैच में दो सफलता मिली जबकि क्रुणाल को एक विकेट मिला । भले ही हार्दिक पांड्या ने 2 विकेट झटके लेकिन वो काफी महंगे साबित हुए। हार्दिक ने अपने 4 ओवर के स्पेल में 51 रन दे डाले जबकि क्रुणाल ने 37 रन दिए।वहीं, बल्लेबाजी में हार्दिक पांड्या बुरी तरह फ्लॉप रहे और मात्र 4 रन बनाकर आउट हो गए जबकि क्रुणाल ने 20 रन बनाए। क्रुणाल ने धोनी के साथ मिलकर सातवें विकेट के लिए 51 रनों की महत्वपूर्ण पार्टनरशिप दी।धोनी और क्रुणाल के साझेदारी के कारण ही भारत 100 का आंकड़ा पार करने में सफल रहा।