IPL 2019/स्पॉट फिक्सिंग मामले में धोनी का बड़ा खुलासा, बताई डिप्रेशन में जाने की वजह





भारतीय टीम के पूर्व और मौजूदा चेन्नई सुपरकिंग्स के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने 2013 स्पॉट फिक्सिंग मामले में बड़ा खुलासा किया है।  लोगों को जिस बात का 6 साल से इंतजार था,आखिरकार धोनी ने इस प्रकरण में चुप्पी तोड़ ही दी।

महेंद्र सिंह धोनी, चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान

धोनी ने इस मामले में बताया कि वे इस प्रकरण के पहले इतने डिप्रेस्ड कभी नहीं हुए थे। इस मामले की की वजह से धोनी की टीम चेन्नई सुपरकिंग्स को दो साल के प्रतिंबध का भी सामना करना पड़ा था। जिसके कारण चेन्नई सुपरकिंग्स की टीम आईपीएल के दो सीजन में नहीं खेल सकी थी।

इसे भी पढ़ें:- दिल्ली के कोच रिकी पो​टिंग का बड़ा बयान, बोले- टीम इस बार अच्छा करेगी

दरअसल, धोनी ने यह बात टीम की पिछले सीजन में धमाकेदार वापसी पर बनी वेब सीरीज 'रोर ऑफ द लॉयन' में कही है। इस दौरान धोनी ने कहा कि यह उनके क्रिकेट करियर का सबसे खराब दौर था। उस समय से पहले वे अपने जीवन में इतने डिप्रेस्ड कभी नहीं हुए थे। 2007 में वनडे वर्ल्ड कप में टीम खराब प्रदर्शन के कारण हारी थी लेकिन 2013 स्पॉट फिक्सिंग का मामला पूरी तरह अलग था।




धोनी ने आगे कहा कि उनके लिए मैच फिक्सिंग निजी तौर पर सबसे बड़ा अपराध है। उन्होंने कहा कि उनके लिए मैच फिक्सिंग तो हत्या से भी बड़ा अपराध है। वे मैच फिक्सिंग में कभी शामिल नहीं हो सकते हैं क्योंकि वे आज जो कुछ भी हैं इस खेल की बदौलत ही हैं।

इसे भी पढ़ें:- कुलदीप यादव ने कहा- टीम इंडिया दावेदार, लेकिन इंग्लैंड और पाकिस्तान से सावधान रहना होगा

आपको बता दें कि 2013 स्पॉट फिक्सिंग के बाद जुलाई 2015 में इस प्रकरण में चेन्नई  सुपरकिंग्स और राजस्थान रॉयल्स पर दो साल का प्रतिबंध लगा दिया गया था, क्योंकि इन टीमों के अधिकारियों गुरुनाथ मयप्पन और राज कुंद्रा को सट्टेबाजी गतिविधियों में लिप्त पाया गया था।




पढ़ें, क्रिकेट और अन्य खेलों से संबंधित ताजा-तरीन खबरें AGMsports24 पर, सबसे पहले।