सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी के फाइनल में कर्नाटक ने तमिलनाडु को 1 रन से हराया

Syed Mushtaq Ali Trophy, Final, Karnataka vs Tamilnadu, Highlights:  सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी का फाइनल मैच रविवार को सूरत के लालभाई कांट्रेक्ट स्टेडियम में कर्नाटक और तमिलनाडु के बीच खेला गया। कर्नाटक ने बेहद ही रोमांचक मुकाबले में तमिलनाडु को 1 रन से हराकर लगातार दूसरी बार सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी का खिताब अपने नाम किया।
कर्नाटक ने बेहद ही रोमांचक मुकाबले में तमिलनाडु को 1 रन से हराकर लगातार दूसरी बार सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी का खिताब अपने नाम किया

कर्नाटक ने कप्तान मनीष पांडे के नाबाद 60 रन की बदौलत 20 ओवर में 5 विकेट खोकर 180 रन बनाए। जवाब में तमिलनाडु की टीम 20 ओवर में 6 विकेट खोकर 179 रन ही बना सकी। मनीष पांडे ने टीम की ओर से सर्वाधिक 44 रन बनाए। वहीं, बाबा अपराजित ने 40 रन का योगदान दिया। कर्नाटक के लिए रोनित मोर ने सबसे अधिक तीन विकेट चटकाए।



इससे पहले तमिलनाडु के कप्तान दिनेश कार्तिक ने टॉस जीतकर पहले कर्नाटक को बल्लेबाजी के लिए आमंत्रित किया।

कर्नाटक की सधी हुई शुरुआत

कर्नाटक के सलामी बल्लेबाज लोकेश राहुल और देवदत्त पाड्डिकल ने टीम को शानदार शुरुआत दिलाई। दोनों ने पहले विकेट के लिए 4.2 ओवर में  39 रन जोड़े।



आर अश्विन की शानदार गेंदबाजी

कर्नाटक की खतरनाक हो रही जोड़ी को रविचंद्र अश्विन ने तोड़ा। अश्विन ने शानदार फॉर्म में चल रहे लोकेश राहुल को 22 रन  के निजी स्कोर पर बाउंड्री लाइन के समीप मुरुगन अश्विन  के हाथों कैच करवाया। अगली ही गेंद पर मयंक अग्रवाल को अश्विन ने आउट कर कर्नाटक को बड़ा झटका दिया। 

मनीष पांडे की कप्तानी पारी

लगातार दो विकेट गिरने के बाद कप्तान मनीष पांडे ने सलामी बल्लेबाज देवदत्त पड्डिकल (32 ) के साथ मिलकर टीम के पारी को आगे बढ़ाया। दोनों बल्लेबाजों ने तीसरे विकेट के लिए 48 रनों की साझेदारी निभाई। पड्डिकल का विकेट गिरने के बाद कप्तान मनीष पांडे ने रोहन कदम (35) के साथ चौथे विकेट के लिए 65 और करुण नायर (17*) के साथ पांचवें विकेट के लिए 28 रन जोड़कर टीम के स्कोर को 180 तक पहुंचाया। उन्होंने 45 गेंदों में चार चौके और दो छक्के की मदद से नाबाद 60 रनों की पारी खेली। तमिलनाडु के लिए रविचंद्रन अश्विन और मुरूगन अश्विन ने दो-दो विकेट झटके जबकि एक विकेट वॉशिंगटन सुंदर के खाते में गई।

तमिलनाडु की खराब शुरुआत

180 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी तमिलनाडु की शुरुआत खराब रही और 80 रन पर अपने 4 विकेट खो दिए। शाहरुख खान 16, हरि निशांत 14 वाशिंगटन सुंदर 24 और कप्तान दिनेश कार्तिक 20 रन बनाकर पवेलियन लौट गए। उसके बाद बाबा अपराजित और विजय शंकर ने पारी को संभाला। दोनों बल्लेबाजों ने तेजी से रन बनाते हुए टीम के स्कोर को 17 ओवर में 150 के पार पहुंचाया। तमिलनाडु को 18 गेंदों में 31 रनों की जरूरत थी तभी बाबा अपराजित(40) को 151 के स्कोर पर रोनित मोरे ने आउट कर तमिलनाडु को तगड़ा झटका दिया। 

अंतिम ओवर में 13 रन की जरूरत थी

तमिलनाडु को अंतिम ओवर में जीतने के लिए 13 रन की बरकरार थी। रविचंद्रन अश्विन ने कृष्णप्पा गौथम के पहली दो गेंदों पर बाउंड्री जड़कर तमिलनाडु खेमे में जीत की उम्मीद जगा दी। लेकिन अंतिम 4 गेंदों में गौथम ने शानदार वापसी करते हुए मात्र 3 रन दिए और अपनी टीम को 1 रन से ऐतिहासिक जीत दिलाई। 




इसी के साथ कर्नाटक लगातार दो बार सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी जीतने वाले पहले टीम भी बन गई। इतना ही नहीं कर्नाटक एक ही सीजन में विजय हजारे ट्रॉफी और सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी जीतने वाली पहली टीम भी बनी।



बता दें कि कर्नाटक ने इसी सीजन तमिलनाडु को हराकर ही विजय हजारे ट्रॉफी हासिल की थी।