भारतीय टीम के बल्लेबाज ने अपने टीम के बल्लेबाजों के होश उड़ा रखे हैं। ये बात आपकी अटपटी लग रही होगी, लेकिन ये सच है। हम बात कर रहे हैं ओपनर रितुराज गायकवाड़ की जो एक के बाद एक लगातार बड़ी-बड़ी पारियां खेलकर अपनी ही टीम के बल्लेबाजों की नाक में दम किए हुए हैं और ये बल्लेबाज हैं शिखर धवन, पृथ्वी शा, मयंक अग्रवाल और शुभमन गिल जैसे खिलाड़ी, जो वनडे क्रिकेट में डेब्यू कर चुके हैं। 

दरअसल, रितुराज गायकवाड़ ने विजय हजारे ट्राफी में पांच मैचों में चौथा शतक जड़ा है और वे अब तक 500 से ज्यादा रन बना चुके हैं। चंडीगढ़ के खिलाफ कप्तान रितुराज गायकवाड़ ने इस सीजन की इस एकदिवसीय टूर्नामेंट का चौथा शतक महज 95 गेंदों में 7 चौके और 2 छक्कों की मदद से पूरा किया। इससे पहले वे उत्तराखंड के खिलाफ 21 रन के निजी स्कोर पर आउट हो गए थे, लेकिन उससे पहले तीन लगातार शतक उन्होंने जड़े थे। वे इस टूर्नामेंट में इस साल सबसे पहले 500 रन का आंकड़ा पार करने वाले बल्लेबाज बन गए हैं।  

विजय हजारे टूर्नामेंट की शुरुआत रितुराज गायकवाड़ ने दमदार अंदाज में की थी और मध्य प्रदेश के खिलाफ 136 रन की तूफानी पारी खेली थी। इसके एक दिन बाद उन्होंने छत्तीसगढ़ के खिलाफ 154 रन की पारी खेली थी। वहीं, 8 और 9 दिसंबर के बाद 11 दिसंबर को रितुराज गायकवाड़ के बल्ले से लगातार तीसरा शतक निकला था, जब उन्होंने केरल की टीम के खिलाफ 124 रन बनाए थे। हालांकि, इस मुकाबले में टीम को जीत नहीं मिली थी। मैचों में 400 से ज्यादा रन बनाने के बाद वे अपने चौथे मैच में उत्तराखंड के खिलाफ 21 रन के निजी स्कोर पर आउट हो गए थे। बावजूद इसके उन्होंने चार मैचों में 435 रन बना लिए थे। 

रितुराज गायकवाड़ के बल्ले से चारों शतक राजकोट के सौराष्ट्र क्रिकेट एसोसिएशन स्टेडियम काम्पलेक्स में आए हैं। इसी के साथ उन्होंने अपनी दावेदारी साउथ अफ्रीका के दौरे के लिए पेश कर दी है। इसके बाद शायद उनको नजरअंदाज नहीं किया जाएगा।