सचिन-सहवाग एक बार फिर करेंगे मैदान में वापसी, इस टूर्नामेंट में बरसाएंगे चौके-छक्के

भारत के महान क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर, वेस्टइंडीज के पूर्व कप्तान ब्रॉयन लारा, वीरेन्द्र सहवाग, ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज ब्रेट ली और श्रीलंका के तिलकरत्ने दिलशान जैसे दिग्गज क्रिकेटर अगले वर्ष के शुरु में आयोजित होने वाली रोड सेफ्टी वर्ल्ड सीरीज टी-20 क्रिकेट टूर्नामेंट में खेलते नजर आएंगे। यह टूर्नामेंट वार्षिक टी-20 क्रिकेट टूर्नामेंट होगा जिसमें पांच देशों के 75 से ज्यादा लीजेंड खेलेंगे और सड़क सुरक्षा को लेकर जागरुकता पैदा करेंगे। 
भारत के महान क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर, वेस्टइंडीज के पूर्व कप्तान ब्रॉयन लारा, वीरेन्द्र सहवाग, ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज ब्रेट ली और श्रीलंका के तिलकरत्ने दिलशान जैसे दिग्गज क्रिकेटर अगले वर्ष के शुरु में आयोजित होने वाली रोड सेफ्टी वर्ल्ड सीरीज टी-20 क्रिकेट टूर्नामेंट में खेलते नजर आएंगे।
  सचिन और सहवाग- © सोशल मीडिया
सचिन को रोड सेफ्टी वर्ल्ड सीरीज का ब्रांड एंबेसेडर बनाया गया है जबकि पूर्व भारतीय कप्तान सुनील गावस्कर टूर्नामेंट कमिश्नर होंगे। इस लीग का प्रबंधन प्रोफेशनल मैनेजमेंट ग्रुप देखेगा। वायकॉम 18 प्रसारण सहयोगी हैं जबकि जियो और वूट इसके डिजिटल पार्टनर्स हैं। लोकप्रिय प्लेटफॉर्म टिक टॉक इस लीग के ऑनलाइन कम्यूनिटी पार्टनर हैं।
पांच टीमों के बीच यह टूर्नामेंट अगले वर्ष चार से 16 फरवरी के बीच खेला जाएगा और इसका आयोजन देश के प्रमुख स्थलों पर होगा। टूर्नामेंट में इंडिया लीजेंड्स, ऑस्ट्रेलिया लीजेंड्स, दक्षिण अफ्रीका लीजेंड्स, श्रीलंका लीजेंड्स और वेस्टइंडीज लीजेंड्स नामक टीमें हिस्सा लेंगी। गुरुवार को यहां एक संवाददाता सम्मेलन में इस लीग की घोषणा की गयी।
संवाददाता सम्मेलन में गावस्कर, सचिन, लारा, सहवाग, दिलशान, ब्रेट ली और जोंटी रोड्स मौजूद थे। नियमित क्रिकेट से संन्यास ले चुके 75 से ज्यादा खिलाड़ियों ने इस टूर्नामेंट में हिस्सा लेने की पुष्टि कर दी है।इस टूर्नामेंट का आयोजन प्रोफेशनल मैनेजमेंट ग्रुप और महाराष्ट्र सरकार के सड़क सुरक्षा विभाग की ओर से किया जा रहा है। ऐसे टूनार्मेंटों का आयोजन भारत में अगले 10 सालों तक किया जाएगा। टूर्नामेंट के आयोजनकतार्ओं ने अगस्त 2018 में ही भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) से इसकी अनुमति ले ली थी।
2013 में संन्यास लेने के बाद तेंदुलकर तीसरी बार दर्शकों के सामने खेलते नजर आएंगे। संन्यास के बाद तेंदुलकर ने 2014 में लार्ड्स में एमसीसी के लिए रेस्ट ऑफ द वर्ल्ड के खिलाफ एक मैच खेला था। उसके बाद तेंदुलकर ने 2015 में अमेरिका में तीन टी-20 मैच खेले थे। लीग के ब्रांड एंबेसडर सचिन ने कहा, “भारत के लोगों को क्रिकेट पसंद है और इस खेल को खेलना हमारे लिए सौभाग्य की बात है। क्रिकेट और क्रिकेट के खिलाड़ियों के प्रति लोगों के प्यार व स्नेह को शब्दों में बता पाना मुश्किल है।
मैं नियमित रूप से यातायात नियमों का पालन करने एवं सुरक्षित तरीके से गाड़ी चलाने के महत्व के बारे में बताता रहा हूं और रोड सेफ्टी वर्ल्ड सीरीज का यह मंच एक संपूर्ण वृत्त जैसा लगता है। मुझे इस लीग में शामिल होने की सचमुच खुशी है, जिससे न केवल क्रिकेट की दिग्गज हस्तियों को वापस एक बार फिर से मैदान में उतरने का मौका मिलेगा बल्कि इस खूबसूरत खेल के जरिए हमें समाज के प्रति अपना कर्तव्य निभाने में भी मदद मिलेगी।”
आरटीओ चीफ ऑफ ठाणे (कोंकण रेंज) और महाराष्ट्र के रोड सेफ्टी सेल के वरिष्ठ सदस्य रवि गायकवाड ने बताया कि प्रत्येक चार मिनट पर एक व्यक्ति की सड़क दुर्घटना में मृत्यु होती है। दुनिया में मरने वाले प्रत्येक सौ लोगों में से 30 भारतीय हैं।
इससे भी अधिक चिंताजनक बात यह है कि वर्ल्ड रिसर्च इंस्टीट्यूट के अनुसार, वर्ष 2020 तक प्रत्येक वर्ष सड़क दुर्घटनाओं में मरने वाले लोगों की संख्या 22 लाख तक पहुंच जायेगी और इनमें से 50 प्रतिशत भारतीय होंगे। हमारे देश में सड़क दुर्घटनाओं में हर वर्ष लगभग 1,50,000 लोगों की मृत्यु हो जाती है और 4,50,000 से अधिक लोग गंभीर रूप से घायल होते हैं।
रोड सेफ्टी वर्ल्ड सीरीज का उद्देश्य देश में सामाजिक बदलाव को बढ़ावा देना और सड़क सुरक्षा के प्रति लोगों की सोच में परिवर्तन लाना है। चूंकि देश में क्रिकेट को चाहने वालों की संख्या सबसे अधिक है और अधिकांश लोगों द्वारा क्रिकेटर्स को अपने आदर्श के रूप में देखा जाता है, इसलिए यह लीग सड़कों पर लोगों के चलने-फिरने को लेकर उनके व्यवहार में परिवर्तन लाने हेतु उपयुक्त मंच का काम करेगा।
इस लीग के दौरान होने वाले लाभ का एक हिस्सा शांत भारत सुरक्षित भारत के कोष में जायेगा। शांत भारत-सुरक्षित भारत एक परोपकारी न्यास है जिसका मुख्य उद्देश्य देश में सड़क सुरक्षा के प्रति जागरूकता पैदा करना है।
Powered by Blogger.