Asian Games 2018 Day 1 : पहलवान बजरंग पूनिया ने दिलाया भारत को पहला स्वर्ण पदक

18वीं एशियाई खेलों के पहले दिन पहलवान बजरंग पूनिया ने भारत का पहला स्वर्ण पदक दिलाया  । उन्होंने फ्रीस्टाइल 65 किलोग्राम भार वर्ग के फाइनल में जापान के पहलवान तकातानी डियाची को 11 -  8 से हराया । एशियाड में यह उनका पहला स्वर्ण पदक है। बजरंग पूनिया 9वें भारतीय पहलवान बन गए हैं जिन्होंने एशियाड में स्वर्ण पदक जीते हैं ।

लगातार चार मुकाबले जीते 

राष्ट्रमंडल खेलों का स्वर्ण पदक विजेता बजरंग ने 1 दिन में चार मुकाबले जीतकर स्वर्ण पदक को अपने नाम किया। उन्हें रविवार को पहले दौर में बाई मिली थी। बजरंग ने उज्बेकिस्तान के पहलवान सिरोजिद्दीन को 13 - 3 से पटखनी दी । फिर तजाकिस्तान के फेजिएव अब्दुलकोसिम को 12 - 2  से पराजित किया। उसने मंगोलिया के एन बाटमागनाई बाचुलु को 10 - 0 से बुरी तरह पराजित किया ।

फाइनल में जापान के पहलवान से मुकाबला

बजरंग पूनिया का मुकाबला फाइनल में जापान के पहलवान तकातानी डियाची से हुआ । बजरंग ने पहले राउंड में तेज शुरुआत करते हुए 6 - 0 की बढ़त बना ली । परंतु बाद में जापानी पहलवान ने तेजी से खेल में वापसी करते हुए स्कोर  को 6 - 4 कर दिया और मुकाबले को रोमांचक बना दिया।
दूसरे राउंड में दोनों के बीच कांटे का मुकाबला हुआ लेकिन अंत में बजरंग ने विपक्षी पहलवान को कोई मौका नहीं देते हुए दबाव बनाए रखा और मैच को 11 - 8 से जीत लिया और स्वर्ण पदक पर कब्जा किया ।
बजरंग पूनिया -मुझे पूरा भरोसा था लेकिन मैं यह भी जानता था कि मुझे अपनी योजना पर डटे रहना है। मुकाबले के दौरान कुछ चुनौती आई आई लेकिन मैं जापानी पहलवान को काबू करने में सफल रहा । यह मुश्किल मुकाबला था । मैं जब अच्छी बढ़त बना चुका था तब मुझे आक्रमण नहीं करना चाहिए था लेकिन मैं खुश हूं कि मैंने एशियाई खेलों में स्वर्ण का सपना पूरा किया ।

बजरंग पूनिया का लगातार चौथा स्वर्ण पदक

24 वर्षीय भारतीय पहलवान ने लगातार चार स्वर्ण पदक जीतने का कारनामा किया  । एशियाड से पहले उसने लगातार 3 स्वर्ण जीते थे । बजरंग ने राष्ट्रमंडल खेल , जॉर्जिया में तिबलिसी ग्रां प्री और इस्तांबुल में यासर दोगु अंतर्राष्ट्रीय प्रतियोगिता में स्वर्ण पदक जीता है।

अपूर्वी चंदेला और रवि कुमार ने भारत को एशियाड में पहला पदक दिलाया

रवि कुमार और और अपूर्वी चंदेला ने मिश्रित टीम राइफल स्पर्धा में कांस्य पदक के साथ एशियाई खेलों में भारत के लिए पदकों का खाता खोला।
चीन ने रजत रजत छीना : भारतीय निशानेबाजों ने 48 शाट के फाइनल में 42 शाट में 429.9 अंक जुटाए । वे ज्यादातर समय में दूसरे स्थान पर थे  लेकिन चीन ने पछाड़कर रजत पदक हासिल किया।
चीन के रूओजू झाओ और हाओरान यांग कि मजबूत जोड़ी ने  492.5 अंक जुटाएं जबकि चीनी ताइपे की यिंगशिन लिन और शाओचुआन लू की जोड़ी ने  494.1 अंक से स्वर्ण पदक अपने नाम किया। इन  खेलों में पहली बार कराई गई स्पर्धा में  कोरिया और और मंगोलिया ने  क्रमशः चौथा और पांचवां स्थान हासिल किया ।
पहला एशियाई पदक - अपूर्वी का यह पहला एशियाई पदक है जो 10 मीटर एयर राइफल स्पर्धा में पदक का  रंग बेहतर करना चाहेंगी । वह विश्व कप में कई बार की विजेता है और ग्लासगो राष्ट्रमंडल खेलों में उन्होंने स्वर्ण पदक जीती थी। वहीं विश्वकप कांस्य पदक विजेता रवि ने इंचियोन में पिछले चरण में पुरुष 10 मीटर राइफल टीम स्पर्धा का कांस्य पदक जीता
Powered by Blogger.