IND vs WI 1st ODI Highlights, कोहली और रोहित के शानदार शतक के दम पर विंडीज के 323 रनों के लक्ष्य को आसानी से हासिल किया

भारत ने कप्तान विराट कोहली और रोहित शर्मा के शानदार शतक के दम पर रविवार को पहले वनडे में विंडीज को 8 विकेट से करारी शिकस्त दी। विंडीज ने युवा बल्लेबाज शिमरोन हेटमायर के शानदार शतक के बदौलत 322 रनों का बड़ा स्कोर खड़ा किया  लेकिन  भारत ने 42.1 ओवर में 2 विकेट खोकर आसानी से हासिल कर पांच मैचों की वनडे सीरीज  में 1 - 0 से बढ़त बना लिया। भारत की ओर से कप्तान विराट कोहली ने अपना 36वां वनडे शतक लगाते हुए 107 गेंदों में 140 रन बनाए जबकि रोहित शर्मा ने नाबाद 152 रनों की  पारी खेली। रोहित शर्मा का यह 20वां वनडे शतक था।
विराट कोहली और रोहित शर्मा ने वेस्टइंडीज के खिलाफ पहले वनडे में शानदार शतक लगाए
 विराट कोहली और रोहित शर्मा
इससे पहले विंडीज के कप्तान जैसन होल्डर ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। विंडीज की शुरुआत खराब रही और उसने अपना पहला विकेट 19 के स्कोर  पर डेब्यू मैच खेल रहे चंद्रपॉल हेमराज  के रूप में खो दिया। मोहम्मद शमी ने हेमराज को 9 रनों के निजी स्कोर पर क्लीन बोल्ड किया। तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी करने आए शाई होप और सलामी बल्लेबाज कायरन पॉवेल ने विंडीज को शुरुआती झटकों से संभालते हुए दूसरे विकेट के लिए 65 रनों की बेहतरीन शुरूआत दी। दोनों बल्लेबाजों ने 62 गेंदों में 65 रनों की शानदार साझेदारी दिया। कायरन पॉवेल  ने विस्फोटक अंदाज में बल्लेबाजी करते हुए मात्र 36 गेंदों में 50 रन ठोक डाले। यह वनडे अंतरराष्ट्रीय  करियर में पॉवेल का नौवां अर्धशतक था। पॉवेल अपनी पारी को ज्यादा आगे नहीं बढ़ा सके और 51 रन बनाकर खलील अहमद का शिकार बने। उन्होंने अपनी पारी में 6 चौके और दो लाजवाब छक्के लगाए। चौथे नंबर पर बल्लेबाजी करने आए मार्लों सैमुअल्स अपना खाता भी नहीं को खोल सके और यजुवेंद्र चहल की गेंद पर एलबीडब्ल्यू आउट हो गए। साईं होप भी ज्यादा देर तक क्रीज पर टिक नहीं सके और 32 रन बनाकर मोहम्मद शमी की गेंद पर विकेट के पीछे लपके गए। युवा बल्लेबाज शिमरोन हेटमायर ने रोमेन पावेल के साथ मिलकर ना सिर्फ विंडीज के पारी को संभालना बल्कि विंडीज को  तेज शुरुआत भी दिया। इन दोनों बल्लेबाजों ने पांचवें विकेट के लिए मात्र 53 गेंदों में 74 रनों की  रनों की तेजतर्रार साझेदारी दी और इसी बीच हेटमायर ने अपना अर्धशतक पूरा किया।  विंडीज की खतरनाक हो रही इस जोड़ी को रविंद्र जडेजा ने तोड़ा ।जडेजा ने पावेल को 22 के स्कोर पर क्लीन बोल्ड कर भारत को छठी सफलता दिलाई ।
युवा बल्लेबाज शिमरोन हेटमायर विकेट गिरने के बावजूद भी अपने विस्फोटक अंदाज में बल्लेबाजी करते हुए मात्र 74 गेंदों में अपना तीसरा शतक ठोक डाला। हेटमायर ने  कप्तान जैसन होल्डर के साथ मिलकर सातवें विकेट के लिए 60 रनों की  महत्वपूर्ण साझेदारी दिया। रविंद्र जडेजा ने हेटमायर को 106 रन पर फाइन लेग में बाउंड्री के नजदीक ऋषभ पंत के हाथों कैच करवाया। हेटमायर ने अपनी पारी में 78 गेंद खेलते हुए 6 चौके और 6 लाजवाब छक्के जड़े। जब वे आउट हुए तब विंडीज ने 38.4 ओवर में 248 रन बना लिए थे,ऐसा लग रहा था कि विंडीज टीम 350- 60 का स्कोर खड़ा कर लेगी लेकिन भारतीय गेंदबाजों ने जोरदार वापसी करते हुए एश्ले नर्स और कप्तान जैसन होल्डर को जल्दी पवेलियन का रास्ता दिखाया। यजुवेंद्र चहल  ने सबसे पहले नर्स को 2 के स्कोर  पर एलबीडब्ल्यू आउट किया फिर उन्होंने होल्डर को 32 रन पर आउट कर भारत को आठवीं सफलता दिलाई। देवेंद्र बिशू और केमार रोज ने नौवें विकेट के लिए 44 रनों के महत्वपूर्ण साझेदारी देकर विंडीज के स्कोर को 300 के पार  पहुंचाया। विंडीज ने 50 ओवरों में 9 विकेट के नुकसान पर 322 रनों का बड़ा स्कोर खड़ा किया। भारत की तरफ से यजुवेंद्र चहल ने तीन विकेट लिए जबकि मोहम्मद शामी और रविंद्र जडेजा को दो-दो विकेट मिले।
323 रनों के बड़े लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम की शुरुआत बहुत खराब रही और भारत ने शिखर धवन के रूप में अपना पहला विकेट 10 के स्कोर पर गंवा दिया । शिखर धवन को अपना पहला मैच खेल रहे ओसाने थॉमस ने 4 रन के निजी स्कोर पर बोल्ड कर दिया। उसके बाद बल्लेबाजी करने आए कप्तान विराट कोहली ने रोहित शर्मा के साथ मिलकर तेजी से रन बनाना शुरू किया। रोहित शर्मा ने शुरुआत में जहां संभलकर खेला वहीं विराट कोहली ने आते ही विंडीज के गेंदबाजों की धुलाई शुरू कर दी। कप्तान विराट कोहली ने मात्र 35 गेंदों में 50 रन बना डाले। रोहित शर्मा एक समय 42 गेंदों में  33 रन पर थे।  उन्होंने 20वें ओवर की अंतिम 2 गेंदों पर देवेंद्र बिशू को 2 छक्के लगाकर अपने गेंद और रन के बीच की दूरी को  बराबरी पर ला दिया।  रोहित शर्मा ने थॉमस की गेंद पर 1 रन लेकर अपना 37 वां अर्धशतक पूरा किया। रोहित शर्मा और विराट कोहली यही नहीं  रूके और दोनों बल्लेबाजों ने क्रमशः अपना 20वांऔर 36वां शतक ठोक डाले। इन दोनों बल्लेबाजों ने 7 से ज्यादा के रन रेट से रन बनाते हुए  दूसरे विकेट के लिए 246 रनों की बड़ी साझेदारी देकर भारत की जीत की नींव रखी। कप्तान विराट कोहली 140 रन बनाकर देवेंद्र बिशू की  गेंद पर स्टंप आउट हुए। उन्होंने अपनी पारी में  107 गेंदों में 21 चौके और दो लाजवाब छक्के लगाए। कोहली जब आउट हुए तब भारत का स्कोर 33 ओवर में 256 था और भारत को मैच जीतने के लिए 102 के लिए 102 गेंदों में 66 रनों की आवश्यकता थी। भारत ने और कोई विकेट नहीं गंवाते हुए 42.1 ओवर में 326 रन बनाकर 8 विकेट से मैच को अपने नाम कर लिया। रोहित शर्मा ने शानदार बल्लेबाजी करते हुए नाबाद 152 रन बनाए। उन्होंने 117 गेंद खेलते हुए 15 चौके और 8 गगनचुंबी छक्के लगाए । अंबाती रायडू ने 26 गेंदों में नाबाद 22 रन बनाए। विंडीज के तरफ से  ओसाने थॉमस और देवेंद्र बिशू ने एक-एक विकेट लिए। कप्तान विराट कोहली को उसके शानदार  शतकीय पारी के लिए मैन ऑफ द मैच चुना गया।

मैच समाप्त होने के बाद दोनों टीमों के कप्तान और यजुवेंद्र चहल ने क्या कहा, जानते हैं-

विराट कोहली (कप्तान भारतीय टीम):मैं बहुत अच्छा महसूस कर रहा हूं। हमारे लिए यह बहुत बड़ी जीत है। विंडीज  ने वास्तव में बहुत अच्छा प्रदर्शन किया। 322 रनों का लक्ष्य बहुत मुश्किल होता है लेकिन हम जानते थे की बड़ी साझेदारी देकर लक्ष्य को आसानी से हासिल किया जा सकता है।जब आप रोहित को दूसरे छोर पर रखते हैं तो यह कभी भी मुश्किल नहीं होता है।शीर्ष तीन में से, मैं ज्यादातर एंकर भूमिका निभाता हूं क्योंकि रोहित और शिखर दोनों अच्छे स्ट्रोक खिलाड़ी है। जब मैं मैदान में उतरा तो मुझे अच्छा महसूस हुआ और मैंने रोहित को बताया कि मैं सकारात्मक रूप से बल्लेबाजी जारी रखूंगा और आप एंकर की भूमिका निभा सकते हैं। जब रायडू बल्लेबाजी करने आए तो उन्होंने वही भूमिका निभाई जो रोहित ने किया। मुझे लगता है कि वनडे  इंटरनेशनल क्रिकेट में इसी तरह बल्लेबाजी की जाती है। यह हमारी शायद पांचवीं या और छठी  बार 200 रनों की साझेदारी हैं। जब हम इस तरह की बल्लेबाजी करते हैं तो बहुत मजा आता है और यह हमारी टीम के लिए भी फायदेमंद होती है।
जेसन होल्डर (कप्तान विंडीज टीम):मैं बल्लेबाजों के प्रदर्शन प्रदर्शन से बहुत खुश हूं ,खासकर युवा बल्लेबाज हेटमायर की बल्लेबाजी से। हेटमायर ने उम्मीद से कहीं अच्छी बल्लेबाजी किया। कायरन पॉवेल ने बहुत अच्छी शुरुआत दी, जिसकी हमें आवश्यकता थी। हमने नई गेंद के साथ अच्छी गेंदबाजी की लेकिन रोशनी के नीचे गेंदबाजी करना बहुत मुश्किल होता है। हमारे स्पिन गेंदबाज उम्मीद के मुताबिक प्रभावशाली नहीं हो सके। शायद हमें 25-30 रनों  की ओर जरूरत थी, लेकिन हम बना नहीं सके। मैं जीत का का सारा श्रेय रोहित और कोहली को देना चाहूंगा जिन्होंने शुरुआती झटकों सेे टीम को उबारते हुए जीत की ओर ले गए। विशेष रूप से टेस्ट सीरीज के बाद से हेटमायर की बल्लेबाजी से काफी खुश हूं। यह एक युवा टीम है और हम इस मैच से काफी कुछ सीखेंगे। उम्मीद करते हैं कि हम दूसरे मैच में इससे बेहतर खेल दिखाएंगे।
यजुवेंद्र चहल (भारतीय गेंदबाज):इस विकेट पर हमें गति में बदलाव करने की जरूरत थी। हमें अनुमान लगाना पड़ता है कि बल्लेबाज क्या कर रहा है ताकि उसके अनुसार गेंदबाजी कर सके। विंडीज के बल्लेबाज छक्के लगाने के प्रयास में थे इसलिए मैं फुलर बॉल को गेंदबाजी नहीं करना चाहता था। वे बहुत मजबूत खिलाड़ी हैंं, हमें हवा में धीमी गति से गेंदबाजी करने की आवश्यकता थी ताकि गेंद स्पिन हो सके और जब गेंद  स्पिन होती है तो उसे खेलना थोड़ा मुश्किल होता है। मैंने एशिया कप में जड्डू भाई के साथ खेल चुका हूं ।मैंने उनसे कहा कि वह इस विकेट पर धीमी गति से गेंदबाजी कर सकते हैं और  हम हमेशा एक दूसरे के साथ बात करते हैं। कुलदीप के साथ भी मैं इसी तरह बात करता हूं। हम एक अच्छा त्रिकोणीय बनाते हैं। हमें उनका (रोहित और कोहली) बल्लेबाजी करते देखना बहुत मजा आता है। वह क्रिकेट के दो लेजेंड्स है।कभी-कभी हमें लगता है कि वे पीएस 4 खेल रहे हैं।

जानिए, मैच से जुड़े कुछ रोचक आंकड़े

(1)  विराट कोहली और रोहित शर्मा ने दूसरे विकेट के लिए 246  रनों की साझेदारी दिया जो भारत का ODI में लक्ष्य का पीछा करते हुए सबसे बड़ी साझेदारी है। इससे पहले लक्ष्य का पीछा करते समय सबसे बड़ी साझेदारी का रिकॉर्ड विराट कोहली और गौतम गंभीर के नाम था जिन्होंने 2009 में श्रीलंका के खिलाफ ईडन गार्डन में बनाया था। विराट कोहली और गौतम गंभीर ने तीसरे विकेट के लिए 224 रनों की साझेदारी दिया था।
(2) रोहित शर्मा और विराट कोहली द्वारा दिए गए 246 रनों की साझेदारी दूसरी पारी में पांचवीं सबसे बड़ी साझेदारी है। दूसरी पारी में सबसे बड़ी साझेदारी का रिकॉर्ड श्रीलंका के सनत जयसूर्या और उपुल थरंगा के नाम है जिन्होंने पहले विकेट के लिए इंग्लैंड के खिलाफ 2006 में 286 रनों की साझेदारी दिया था।
(3) विराट कोहली और रोहित शर्मा ने पांचवी बार 200 या उससे अधिक रनों की साझेदारी दिया है जो एक विश्व रिकॉर्ड है। अभी तक किसी भी बल्लेबाजों द्वारा इतनी बार 200 या उससे अधिक रनों की साझेदारी नहीं दिया है। गौतम गंभीर और विराट कोहली के नाम तीन बार  200 से अधिक रनों की साझेदारी देने का रिकार्ड है।
(4) भारत के बल्लेबाजों ने अब तक 9  बार लक्ष्य का पीछा करते समय 200 या उससे अधिक रनों की साझेदारी दिया है जिसमें विराट कोहली 6 बार इसका हिस्सा रहे हैं।
(5) विराट कोहली ने कप्तान के रूप में 14वां शतक लगाया जो ODI क्रिकेट में ऑस्ट्रेलिया के रिकी पोंटिंग(22) के बाद कप्तान के रूप में दूसरा सबसे अधिक शतक हैं। रिकी पोंटिंग ने 22 शतक लगाने लगाने के लिए जहां 220 पारियां खेली वहीं विराट कोहली ने मात्र 50 पारियों में 14 शतक ठोक डाले।
(6) विराट कोहली का तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए यह  29वां शतक था। इसी के साथ कोहली ने ऑस्ट्रेलिया के रिकी पोंटिंग के ODI क्रिकेट में तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए 29 शतक लगाने के रिकॉर्ड की बराबरी भी कर लिया।
(7) विराट कोहली का लक्ष्य का पीछा करते हुए यह 20वां शतक था जो महान भारतीय बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर से 6 अधिक है। सचिन तेंदुलकर ने जहां 127 पारियों में 14 शतक लगाए हैं वही कोहली ने मात्र 78 पारियों में 20 शतक बना डाले।
(8) विराट कोहली ने 300 या उससे अधिक रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए आठवां शतक लगाया। यह एक विश्व रिकॉर्ड है ।अभी तक किसी भी बल्लेबाज ने 4 या उससे अधिक शतक नहीं लगाए हैं।
(9) रोहित शर्मा ने नाबाद 152 रन बनाए और इसी के साथ रोहित शर्मा ने छठी बार ODI क्रिकेट में 150 या उससे रनों की पारी खेली, जो एक विश्व रिकॉर्ड है। इससे पहले यह रिकॉर्ड  सचिन तेंदुलकर और डेविड वार्नर के नाम था जिन्होंने 5 बार 150 या उससे अधिक रनों की पारी खेली थी।
(10) रोहित शर्मा यह 20वां शतक था और वे ODI में 20 या उससे अधिक शतक लगाने वाले चौथे भारतीय बल्लेबाज बने गए। भारत की ओर से रोहित शर्मा से अधिक शतक सचिन तेंदुलकर (49), विराट कोहली (36)और सौरव गांगुली (22) के नाम  है। रोहित शर्मा वनडे  इंटरनेशनल क्रिकेट में 20 या उससे अधिक शतक लगाने वाले दुनिया के 13वें बल्लेबाज बन गए।
(11) रोहित शर्मा ने 183 पारियों में अपना 20 वां शतक लगाया और इसी के साथ रोहित शर्मा वनडे क्रिकेट में सबसे तेज 20 शतक लगाने वाले चौथे बल्लेबाज बने। वनडे क्रिकेट में सबसे तेज 20 शतक लगाने का रिकॉर्ड दक्षिण अफ्रीका के हाशिम अमला के नाम है जिन्होंने 108 पारियों में 20 शतक लगाए हैं। हाशिम अमला के बाद भारत के विराट कोहली (133 पारियों) और दक्षिण अफ्रीका के ही एबी डिविलियर्स (175 पारियों) का नाम आता आता है।
(12) भारत ने  विंडीज के 322 रनों के लक्ष्य को 42.1 ओवर में 7.73 के रन रेट से हासिल कर लिया। यह वनडे क्रिकेट में 300 या उससे अधिक रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए छठी सबसे बेस्ट रन रेट के साथ मैच जीत है। वनडे इंटरनेशनल क्रिकेट में दक्षिण अफ्रीका के नाम सबसे बेस्ट रन रेट के साथ मैच जीतने का रिकॉर्ड है। दक्षिण अफ्रीका ने 2006 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 8.78 के रन रेट से रन बनाते हुए मैच को अपने नाम किया था। भारत का यह  तीसरी सबसे बड़ी जीत है। श्रीलंका के खिलाफ 2012 में भारत ने 36.4 ओवर में 8.75 के रन रेट से 321 रन बनाते हुए मैच को अपने नाम किया था। यह वनडे इंटरनेशनल क्रिकेट में भारत की 300 या उससे अधिक रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए सबसे बेस्ट रन रेट जीत है और दूसरी सबसे बड़ी जीत है।
(13)वेस्टइंडीज के खिलाफ किसी भी टीम द्वारा 323 का लक्ष्य दूसरी सबसे बड़ी सफल चेस है। भारत के ही नाम वेस्टइंडीज के खिलाफ सबसे बड़ी सफल चेस का रिकॉर्ड है। 2002 में विंडीज के 325 रनों के लक्ष्य को भारत ने 47.4 ओवर में 5 विकेट खोकर हासिल कर लिया था।
(14) वनडे इंटरनेशनल क्रिकेट में  रोहित शर्मा ने चौथी बार 8 या उससे अधिक छक्के लगाए और वे ऐसा करने वाले क्रिस गेल के बाद दूसरे बल्लेबाज बन गए।
(15) विंडीज की ओर से ओसाने थॉमस अपने डेब्यू मैच में सबसे अधिक रन देने वाले गेंदबाज बन गए। थॉमस ने 9 ओवर में 83 रन दिए। इससे पहले यह रिकॉर्ड K. विलियम्स के नाम था जिन्होंने 2017 में अपने पदार्पण मैच में भारत के खिलाफ 69 रन दिए थे।
(16) रोहित शर्मा की नाबाद 152 रनों की पारी वेस्टइंडीज के खिलाफ भारत के किसी बल्लेबाज द्वारा दूसरा सबसे बड़ा स्कोर है। वेस्टइंडीज के खिलाफ किसी भारतीय बल्लेबाज द्वारा सबसे बड़ी पारी खेलने का रिकॉर्ड वीरेंद्र सहवाग के नाम है जिन्होंने 2011 में 219 रनों की लाजवाब पारी खेली थी
Powered by Blogger.