साउथैम्पटन.वर्ल्ड कप के 28वें मैच में शनिवार को भारत ने अफगानिस्तान को 11 रन से हरा दिया। भारत ने अफगानिस्तान को जीत के लिए 225 रन का लक्ष्य दिया, लेकिन वह 49.5 ओवर में 213 रन ही बना सका। आखिरी ओवर में जीत के लिए अफगानिस्तान को 16 रन की जरूरत थी, लेकिन वह 4 रन ही बना सका। मोहम्मद शमी ने हैट्रिक ली।उन्होंने आखिरी ओवर में मोहम्मद नबी, आफताब आलम और मुतीब उर रहमान को लगातार तीन गेंद पर आउट किया।
शमी वर्ल्ड कप में हैट्रिक लेने वाले दूसरे भारतीय बने। उनसे पहले चेतन शर्मा ने 1987 में न्यूजीलैंड के खिलाफ हैट्रिक ली थी।टूर्नामेंट के इतिहास में 10वीं बार किसी गेंदबाज ने ऐसा किया। पिछली बार 2015 में इग्लैंड के स्टीफेन फिन और दक्षिण अफ्रीका के जेपी डुमिनी ने हैट्रिक ली थी।

वर्ल्ड कप में भारत की 50वीं जीत

टीम इंडिया ने वर्ल्ड कप में 50वीं जीत दर्ज की। वह ऐसा करने वाली तीसरी टीम है। भारत का वर्ल्ड कप में यह 79वां मैच था। 50+ मैच जीतने के मामले में पहले नंबर पर ऑस्ट्रेलिया है। उसने 90 में से 67 मैच जीते। न्यूजीलैंड ने 83 में से 52 मैच जीते हैं। भारतीय टीम 2011 से अब तक वर्ल्ड कप के लीग राउंड में लगातार 11 मैच जीत चुकी है। इस मामले में वह दूसरे नंबर पर है। ऑस्ट्रेलिया ने 1999 से 2011 वर्ल्ड कप तक लीग राउंड में लगातार 13 मैच जीते थे।

भारत ने इस वर्ल्ड कप में अपना न्यूनतम स्कोर बनाया

इससे पहलेटीम इंडिया ने 50 ओवर में 8 विकेट पर 224 रन बनाए। इस वर्ल्ड कप में भारत का यह न्यूनतम स्कोर है। इससे पहले उसने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ लक्ष्य का पीछा करते हुए 230 रन बनाए थे। वहीं, पहले बल्लेबाजी करते हुए पाकिस्तान के खिलाफ 336 रन बनाए थे।

नबी का अर्धशतक, बुमराह मैन ऑफ द मैच

अफगानिस्तान के लिए इस मैच में मोहम्मद नबी ने सबसे ज्यादा 52 रन बनाए। उनके अलावा रहमत शाह ने 36, गुलबदीन नइब ने 27, नजीबउल्लाह जादरान ने 21 और हसमतउल्ला शाहिदी ने21 रन की पारी खेली। भारत के लिए शमी ने कुल 4 विकेट लिए।जसप्रीत बुमराह, युजवेंद्र चहल और हार्दिक पंड्या ने 2-2 विकेट लिए। बुमराह को मैन ऑफ द मैच अवॉर्ड दिया गया।

भारत के 5 विकेट अफगानिस्तान के स्पिनर्स ने लिए

भारत के लिए इस मैच में कप्तान विराट कोहली ने 67 और केदार जाधव ने 52 रन बनाए। महेंद्र सिंह धोनी 52 गेंद पर सिर्फ 28 रन ही बना सके। अफगानिस्तान के लिए गुलबदीन नइब और मोहम्मद नबी ने 2-2 विकेट लिए। कोहली ने वर्ल्ड कप में लगातार तीसरा अर्धशतक लगाया।वे 67 रन बनाकर आउट हुए। भारत के पांचविकेट स्पिनर ने लिए। इससे पहले इस वर्ल्ड कप में किसी स्पिनर ने भारत के किसी भी बल्लेबाज को आउट नहीं किया था।

कोहली ने राहुल-शंकर के साथ अर्धशतकीय साझेदारी की

भारत का पहला विकेट 7 रन पर गिर गया। इसके बाद राहुल और कोहली ने पारी को संभाला। दोनों ने दूसरे विकेट के लिए 57 रन की साझेदारी की। टीम का स्कोर जब 64 रन था तब राहुल पवेलियन लौट गए। इसके बाद क्रीज पर आए विजय शंकर ने कोहली के साथ पारी को आगे बढ़ाया। दोनों ने तीसरे विकेट के लिए 58 रन की साझेदारी की। टीम का स्कोर जब 122 था, तब शंकर पवेलियन लौट गए।

धोनी की धीमी पारी

पांचवें नंबर पर बल्लेबाजी के लिए उतरे महेंद्र सिंह धोनी ने धीमी पारी खेली। उन्होंने 52 गेंद पर सिर्फ 28 रन बनाए। इस दौरान तीन चौके लगाए। धोनी का स्ट्राइक रेट 53.85 का रहा। उन्होंने केदार जाधव के साथ पांचवें विकेट के लिए 57 रन की साझेदारी की। इस साझेदारी में दोनों ने मिलाकर कुल 84 गेंदें खेलीं।