इंग्लैंड के युवा ऑलराउंडर सैम कुरैन  ने एक बार फिर भारतीय गेंदबाजों के लिए सिरदर्द साबित हुए। गुरुवार को चौथे टेस्ट मैच के पहले दिन उन्होंने कठिन परिस्थितियों में बेहतरीन पारी खेलते हुए अर्ध शतक लगाया।
शुरुआती झटकों से से उबारते हुए सैम कुरैन ने इंग्लैंड को सम्मानजनक स्कोर खड़ा करने में मदद किया। इंग्लैंड ने अपनी पहली पारी में 246 रन बनाए। पहले दिन के खेल समाप्ति के बाद भारत का स्कोर बिना विकेट खोए 19 रन है।

 सैम कुरैन की शानदार बल्लेबाजी 

20 वर्षीय कुरैन ने इंग्लैंड की ओर से सर्वाधिक 78 रनों की बेशकीमती पारी खेली। उन्होंने अपनी पारी में 128 गेंदों में 8 चौके और 1 छक्का लगाया। कुरैन ने  भारतीय गेंदबाजों का साहस से सामना किया और एक छोर संभाले रखा ।

मोईन अली और  सैम कुरैन के बहुमूल्य साझेदारी

इंग्लैंड की टीम एक समय 86 रन पर 6 विकेट गंवाकर मुश्किल में  थी। ऐसे समय में कुरैन ने मोइन अली के साथ 7 वें विकेट के लिए 81 रन की साझेदारी की। ऑफ स्पिनर अश्विन ने मोईन को आउट कर इस साझेदारी को तोड़ा ।  उन्होंने 40 रन बनाए। इसके बाद कुरैन ने स्टुअर्ट ब्रॉड के साथ नौ विकेट के लिए 63 रनों की अहम साझेदारी निभाई। जसप्रीत बुमराह ने ब्रॉड को 17 के निजी स्कोर पर आउट किया।

भारतीय गेंदबाजों की घातक गेंदबाजी

इंग्लैंड का टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला भारतीय गेंदबाजों ने गलत साबित किया। भारत के तेज गेंदबाजों ने घातक गेंदबाजी करते हुए इंग्लैंड की आधी टीम को 69 रन पर आउट कर पवेलियन का रास्ता दिखाया । भारत की ओर से जसप्रीत बुमराह ने सर्वाधिक 3 विकेट झटके। इसके अतिरिक्त ईशांत शर्मा अश्विन और मोहम्मद शामी ने ने दो-दो विकेट हासिल किए