IND vs WI 2nd ODI Highlights,कोहली के विराट पारी पर भारी पड़ा होप का नाबाद शतक, मैच हुआ टाई

भारत और वेस्टइंडीज के बीच बुधवार को विशाखापट्टनम में खेला गया दूसरा वनडे मैच बेहद ही रोमांचक मुकाबले में टाई हो गया। कप्तान विराट कोहली के लगातार दूसरे मैच में लगाए गए शानदार शतक के दम पर भारत ने 321 रनों का बड़ा लक्ष्य रखा। विंडीज टीम भी शाईं होप के बेहतरीन शतक की बदौलत 50 ओवरों में 321 रन ही बना सकी और मुकाबला टाई पर समाप्त हुआ। 27 साल बाद यह दूसरी बार ऐसा हुआ जब भारत और विंडीज के बीच वनडे मुकाबला टाई पर खत्म हुआ। इससे पहले 1991 में पर्थ में भारत और वेस्टइंडीज के बीच मुकाबला टाई हुआ था।
मैच का आखिरी ओवर बेहद ही रोमांचक रहा। विंडीज को मैच जीतने के लिए 14 रनों की जरूरत थी और बल्लेबाजी शानदार शतक लगाने वाले शाई होप कर रहे थे और भारत की ओर से गेंदबाजी का भार उमेश यादव को दिया गया। उमेश यादव ने पहली गेंद होप को यार्कर लेंथ में फेंकी और होप ने 1 रन देकर एश्ले नर्स को बल्लेबाजी करने  के लिए  दिया। उमेश की दूसरी गेंद पर विंडीज टीम को 4 रन मिले। यह गेंद नर्स के पैड से लगती हुई धोनी के सामने से थर्ड मैन की ओर चली गई। उमेश यादव के तीसरी गेंद पर नर्स ने 2 रन चुराए लेकिन चौथी गेंद पर रिवर्स स्वीप लगाने के चक्कर में थर्ड मैन में अंबाती रायडू को कैच थमा बैठे।  अब स्ट्राइक पर शतक लगाने वाले शाई होप थे और विंडीज को 2 गेंदों में जीतने के लिए 7 रनों की आवश्यकता थी। उमेश यादव के पांचवी गेंद पर होप ने 2 रन लिए। अब मुकाबला काफी रोमांचक हो गया क्योंकि विंडीज को मैच जीतने के लिए 6 रनों की रनों की जरूरत थी और टाई करने के लिए 4 रन चाहिए था। उमेश यादव के आखरी गेंद को होप ने थर्ड मैन की ओर खेल दिया और गेंद  रायडू के हाथ से से छूती हुई बाउंड्री के पार पहुंच गई और मैच टाई पर समाप्त हुआ।
virat kohli
 विराट कोहली शतक जड़ने के बाद अभिवादन करते हुए
इससे पहले भारत के कप्तान विराट कोहली ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। भारत की शुरुआत खराब रही और पहले मैच में शतक जड़ने वाले रोहित शर्मा 4 रन बनाकर रोच का शिकार बने। शिखर धवन ने कुछ अच्छे शॉट जरूर लगाए लेकिन वे भी 29 रन बनाकर आउट हो गए। धवन को एश्ले नर्स ने पवेलियन का रास्ता दिखाया। भारत ने अपने 2 विकेट 8.4 ओवर में 40 रन पर गंवा दिए थे। ऐसे समय में कप्तान विराट कोहली और अंबाती रायडू ने टीम को संभाला और शतकीय साझेदारी निभाई। इन दोनों बल्लेबाजों ने तीसरे विकेट के लिए 142 गेंदों में 139 रनों की साझेदारी दी। अंबाती रायडू ने शानदार बल्लेबाजी करते हुए अपना नौवां अर्धशतक लगाया। रायडू 73 रन बनाकर नर्स की गेंद पर बोल्ड आउट हुए।
अंबाती रायडू के आउट होने के बाद कप्तान विराट कोहली ने धोनी के साथ मिलकर भारत की पारी को आगे बढ़ाया। कोहली ने 36 ओवर की तीसरी गेंद पर लोन ऑन में 1 रन चुराकर सबसे तेज 10000 रन बनाने वाले खिलाड़ी बने। विराट (205 पारी ) ने भारत के महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर (259 पारी)  के सबसे तेज 10000 रन बनाने के रिकॉर्ड को तोड़ा। धोनी बड़ी पारी खेलने में विफल रहे और 20 रन बनाकर ओबेड मैक्कोय  का पहला वनडे शिकार बने। ऋषभ पंत भी 17 रन बनाकर जल्दी आउट हो गए।
विराट कोहली ने लाजवाब खेल का प्रदर्शन करते हुए अपना 37 वां शतक लगाया और अंत तक 157 रन बनाकर नाबाद रहे। कोहली ने 129 गेंदों में 13 चौके और 4 बेहतरीन छक्के लगाए। भारत ने 50 ओवर में छह विकेट के नुकसान पर 321 रन बनाए। विंडीज के लिए नर्स और मैक्कोय ने दो-दो विकेट लिए।
322 रनों के बड़े लक्ष्य का पीछा करने उतरी विंडीज की शुरुआत और उसने 78 रनों में तीन विकेट खो दिए दिए लेकिन विंडीज की पारी  की सबसे खास बात रही कि उसके बल्लेबाजों ने रन गति को कम होने नहीं दिया। विंडीज के पारी के तीसरा विकेट जब गिरा तो  उसने 11 ओवर में 78 रन बना लिए थे। चंद्रपॉल हेमराज ने 24 गेंदों में 32 रनों की तेज शुरुआती दी।
विंडीज 78 रनों पर 3 विकेट खोकर मुश्किल स्थिति में दिख रही थी , ऐसे समय में पहले मैच में शतक लगाने वाले शिमरोन हेटमायर और शाई होप ने अपने टीम की पारी को संभाला। इन दोनों बल्लेबाजों ने ना सिर्फ टीम को शुरुआती झटकों से संभाला बल्कि रन गति को कम होने नहीं दिया और चौके और छक्के लगाते रहे। खासकर हेटमायर ने भारतीय स्पिन गेंदबाजों पर कहर बनकर टूटे और सभी गेंदबाजों के ऊपर छक्के लगाए। उसके बल्लेबाजी के आंकड़ों से पता लगाया जा सकता है कि उसने किस प्रकार भारतीय स्पिन गेंदबाजों की धुनाई की। हेटमायर ने 50 रनों की अपनी पारी में सिर्फ 5 छक्के लगाए।
विंडीज के पारी का 26 वां बेहद खास रहा। इस ओवर में यजुवेंद्र चहल की गेंद पर  हेटमायर ने दो छक्के और 1 चौके की मदद से 18 रन लिए। हेटमायर दुर्भाग्य शादी रहे और अपना  चौथा शतक लगाने से मात्र  6 रन दूर रह गए और चहल की गेंद पर बड़े शॉट लगाने की कोशिश में कोहली को कैच थमा बैठे।  होप और हेटमायर ने  चौथे विकेट के लिए मात्र 119 गेंदों में 143 रनों की तेजतर्रार साझेदारी दी। इन दोनों बल्लेबाजों ने  7 के रन रेट से रन बनाए। हेटमायर जब आउट हुए तो विंडीज को.109 गेंदों में 101 रनों की जरूरत थी और यहीं से मैच का रुख भारत की तरफ मुड़ा। रोवमन पावेल  हेटमायर के आउट होने के बाद मैदान में उतरे लेकिन वह ज्यादा देर तक क्रीज पर टिक नहीं सके और 18 रन बनाकर कुलदीप यादव का शिकार बने। कप्तान जैसन होल्डर ने होप के साथ मिलकर पारी को आगे बढ़ाया और इसी बीच शाई होप ने अपना दूसरा वनडे शतक लगाया । होल्डर ने बहुत धीमी बल्लेबाजी की जिसका नुकसान विंडीज  टीम को उठाना पड़ा। होल्डर जब आउट हुए तो उसने 23 गेंदों में मात्र 12 रन बनाए लेकिन होप ने  एक छोर से रन बनाते रहे और उसने ना सिर्फ विंडीज टीम को हार से बचाया बल्कि टाई कराने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। भारत की ओर से सर्वाधिक तीन विकेट कुलदीप यादव ने लिए। विराट कोहली को उसके नाबाद 157 रनों की बेहतरीन पारी के लिए मैन ऑफ द मैच चुना गया।
मैच समाप्त होने के बाद दोनों टीमों के कप्तानों और शाई होप ने क्या कहा, जानते हैं –
विराट कोहली (कप्तान ,भारत) : यह क्रिकेट का बहुत बड़ा और मनोरंजक मैच  था और इसका हिस्सा बनने में बहुत अच्छा लगा। विंडीज टीम ने जिस प्रकार यहां पर खेल दिखाया वह काबिले तारीफ की है। खासकर, दूसरी पारी में जब उसने 3 विकेट जल्दी  खो दिए थे। व्यक्तिगत रूप से, अपनी पारी से  काफी गर्व महसूस कर रहा हूं और यह मेरी बेहतरीन पारियों में से एक है। हमने टॉस जीतने से पहले ही फैसला कर लिया था कि अगर हम लोग टॉस जीतते हैं तो पहले बल्लेबाजी करेंगे क्योंकि इस विकेट पर नमी और आद्रता  थी। लेकिन हिंदुस्तान में, या बड़े टूर्नामेंटों जैसे विश्व कप कप या चैंपियन ट्रॉफी में, हम पहले बल्लेबाजी करते हैं तो सभी हमारे फैसलों से सहमत रहते हैंं। पहली और दूसरी पारी में पिच अलग तरह से खेली। हम 275 - 280 रनों का स्कोर देख रहे थे लेकिन मैं चल गया और 30 - 40 रन अतिरिक्त हमें मिला। हमारे सामने एक बड़ी चुनौती थी और भाग्य ने साथ दिया और हमें ड्रा  मिला।
जब रन रेट गति 6 से नीचे चला गया तब मैंने सोचा कि विंडीज टीम की स्थिति बहुत मजबूत है लेकिन कुलदीप ने हमें मैच में वापसी कराई। चहल ने बेहतरीन गेंदबाजी की और शामी, उमेश ने अंतिम ओवरों में शानदार वापसी कराई। अंतिम के 7 ओवरों में हमने शानदार गेंदबाजी की ख़ासकर  अंतिम 5 - 6 ओवर। अंत में, हम लोग मैच जीत चुके थे, उमेश यादव ने अच्छी गेंदबाजी की लेकिन गेंद रायडू से थोड़ी दूर थी फिर भी उसने बहुत अच्छा प्रयत्न किया। हम सभी ने मैच का पूरा आनंद लिया। मैं दावे के साथ कह सकता हूं कि सभी ने मैच का पूरा मजा लिया । विंडीज टीम को उसके शानदार खेल के लिए मैं धन्यवाद देना चाहूंगा। रायडू ने आज बहुत अच्छी बल्लेबाजी की। मैंने प्रेस कॉन्फ्रेंस में पहले ही कह चुका हूँ कि रायडू चौथे नंबर पर बल्लेबाजी करने के लिए सबसे उपयुक्त बल्लेबाज है। वह मैच की स्थिति को भलीभांति समझता है। रायडू तेज और स्पिन दोनों गेंदबाजों को अच्छी तरह से खेल सकता है। वह एक स्मार्ट क्रिकेटर हैं और अभी बेहतरीन खेल का प्रदर्शन कर रहे हैं। मैंने शाई को इंग्लैंड के खिलाफ खेलते देखा था। उसने इंग्लैंड के  खिलाफ चौथी पारी में शानदार में शतक लगाया था। हेटमायर एक बेहतरीन बल्लेबाज है।मैं शाई को उसके शतक के लिए बधाई देता हूं।
जेसन होल्डर (कप्तान, विंडीज) : निश्चित रूप से, दोनों टीमें ने अच्छे खेल का का प्रदर्शन किया। विराट को उसकी शानदार शतक और वनडे में 10000 रन पूरा करने के लिए बधाई देता हूं। शाई होप एक युवा और प्रतिभावान खिलाड़ी हैं और उसने यादगार शतक लगाया। दुर्भाग्य से, हम मैच को जीत नहीं सके लेकिन हमने इस मैच में सकारात्मक रूप से खेला। शिमरोन हेटमायर ने एक बार फिर अपनी निरंतरता दिखाई । मैं महसूस करता हूं कि हमारे गेंदबाजों ने अच्छी गेंदबाजी की। हेट्टी इस बात से नाखुश है कि हम मैच जीतने के काफी करीब थे, लेकिन जीत नहीं पाए। मैंने दौरा शुरू होने से पहले कहा था कि हमारे चोटी के चार खिलाड़ी के नहीं रहने से इस दौरे में काफी फर्क पड़ेगा। शाई को इस प्रकार बल्लेबाजी करते हुए देखना बहुत अच्छा लगता है। दुर्भाग्य से, हम मैच को जीत नहीं सके लेकिन अगले मैच में इसी सकारात्मक सोच के साथ उतरेंगे। यह देखकर बहुत अच्छा लगा कि लगातार दो मैचों में बड़ा स्कोर बना। मैं अपने खिलाड़ियों के प्रदर्शन से गर्व महसूस कर रहा हूं और कुछ ऐसे  क्षेत्र है जिसमें सुधार की  जरूरत है। खासकर, क्षेत्ररक्षण में सुधार की काफी जरूरत है। हमने नाजुक स्थिति में कैच छोड़े। निश्चित रूप से, बीच के ओवरों में हम कुछ विकेट ले सकते थे। ओवेड मैक्कोय उन खिलाड़ियों में है जिनके पास काफी मिश्रण है।  वह कटर और स्लोवर दोनों प्रकार के गेंद फेंक सकता है। निश्चित रूप से, आज के प्रदर्शन से मैं बहुत खुश हूं।
7शाई होप (विंडीज, खिलाड़ी) : थोड़ा निराश हूँ, हम लोग मैच जीत नहीं सके। इसके लिए हमने काफी मेहनत की। हम लोगों ने नाजुक स्थिति में विकेट गंवाए खासकर ,जैसन के रूप में। मैच जीतने के लिए हमारे हाथों में विकेट की जरूरत थी। हम लोग यहां मैच जीत सकते थे पर ऐसा नहीं हुआ। मैंने अंतिम ओवरों में एक या दो रन लेने की कोशिश किया, बड़े शॉट नहीं खेला। मैं अपने प्रदर्शन से खुश हूं।
जानिए, मैच से जुड़ी कुछ महत्वपूर्ण आंकड़े
(1) यह  भारत का 950 का वनडे मैच था और इसी के साथ भारत दुनिया की पहली टीम बन गई जिसने 950 वनडे मैच खेला है। भारत के बाद सबसे ज्यादा वनडे मैच ऑस्ट्रेलिया (916), न्यूजीलैंड (899), श्रीलंका (828), और वेस्टइंडीज (781) ने खेले हैं।
(2) विराट कोहली का यह 37 वां शतक था और विंडीज के खिलाफ छठा। कोहली इसके साथ ही विंडीज के खिलाफ सबसे ज्यादा शतक लगाने वाले बल्लेबाज बन गए। उसके बाद हर्शल गिब्स ने 5 शतक लगाए हैं।
(3) कोहली ने विंडीज के खिलाफ वनडे में सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड भी अपने नाम किया। उन्होंने महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर के रिकॉर्ड को तोड़ा। विराट ने विंडीज के खिलाफ 29 मैचों में छह शतकों के साथ 1684 रन बनाए जबकि सचिन तेंदुलकर ने 39 मैचों में 1573 रन बनाए जिसमें 4 शतक शामिल है।
(4) विराट कोहली ने वनडे में सबसे तेज 10000 रन बनाने का रिकॉर्ड को अपने नाम किया। उन्होंने भारत के दिग्गज बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर के रिकॉर्ड को ध्वस्त किया। सचिन तेंदुलकर ने जहां  10000 वनडे रन बनाने में 259 पारियां खेली वहीं विराट कोहली ने उनसे 54 मैच कम खेलते हुए 205 पारियों में 10000 रन बना डाले।
(5) विराट कोहली ने 1 कैलेंडर वर्ष में सबसे कम पारियों में 1000 रन बनाने का रिकॉर्ड को भी अपने नाम किया। बेहतरीन फॉर्म में चल रहे विराट कोहली ने इस साल मात्र 11 पारियों में 1000 रन बनाकर हाशिम अमला के 2015  में 15 पारियों में सबसे तेज 1000 रन बनाने के रिकॉर्ड को  तोड़ डाला।
(6) विराट कोहली का तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए यह 30 वां वनडे शतक था और उन्होंने रिकी पोंटिंग के वनडे में तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए 29 शतक लगाने के रिकॉर्ड को तोड़ डाला।
(7) विराट कोहली ने कप्तान के रूप में 15वां शतक लगाया जो वनडे क्रिकेट में ऑस्ट्रेलिया के रिकी पोंटिंग(22) के बाद कप्तान के रूप में दूसरा सबसे अधिक शतक हैं। रिकी पोंटिंग ने 22 शतक लगाने लगाने के लिए जहां 220 पारियां खेली वहीं विराट कोहली ने मात्र 51 पारियों में 15 शतक ठोक डाले।
(8) विराट कोहली ने सबसे कम समय में 10000 रन बनाने वाले खिलाड़ी भी बने। उन्होंने इस रिकॉर्ड तक पहुंचने के लिए 10 साल 68 दिन लिए।
(9) विराट कोहली वनडे में 10000 रन बनाने वाले भारत के पांचवें खिलाड़ी बने और दुनिया के 13वें खिलाड़ी।
वनडे में 10000 रन बनाने वाले 5 भारतीय बल्लेबाज
नाम                      रन           मैच        शतक
सचिन तेंदुलकर    18426    463         49
सौरव गांगुली        11363     311         22
राहुल द्रविड़          10889     344        12
एमएस धोनी         10146     329         10
विराट कोहली        10076     213         37
वनडे में 10000 रन बनाने वाले दुनिया के बल्लेबाज
नाम                          रन         मैच      शतक
सचिन तेंदुलकर     18426           463        49
कुमार संगकारा     14426           404        25
रिकी पोंटिंग         13704           375        30
सनत जयसूर्या       13430           445         28
महिला जयवर्धने    12650           448         19
इंजमाम उल हक     11739          378         10
जैक कैलिस           11579           328        17
सौरव गांगुली         11363           311       22
राहुल द्रविड़          10889           344        12
ब्रायन लारा          10405            299        19
तिलकरत्ने दिलशान  10290           330         22
महेंद्र सिंह धोनी         10146        329         12
विराट कोहली            10076        213         37
(10) वनडे इतिहास में यह  तीसरी सबसे बड़ी टाई मैच है। सबसे बड़ी टाई मैच 2008 में इंग्लैंड  और न्यूजीलैंड के बीच हुआ था। इंग्लैंड ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 6 विकेट के नुकसान पर 340 रन बनाए जवाब में न्यूजीलैंड की टीम 7 खोकर इतना रन ही बना सकी। भारत और इंग्लैंड के बीच बेंगलुरु में खेले गए 2011 वर्ल्ड कप में 338 रनों पर टाई हुआ था ।यह दूसरी सबसे बड़ी टाई है।
(11) 1991 के बाद दूसरी बार भारत और विंडीज के बीच खेला गया मुकाबला टाई पर पर समाप्त हुआ। उस मैच में दोनों टीमें 126 रनों पर ऑल आउट हो गई थी।
(12) तीसरी  बार भारत में ऐसा होगा जब वनडे मैच  टाई में जाकर खत्म हुआ। 1993 में भारत और जिंबाब्वे के बीच पहला टाई मैच भारत में हुआ था जबकि दूसरी बार 2011 के वर्ल्ड कप में भारत और इंग्लैंड के बीच हुआ।
(13) वनडे इतिहास में सबसे ज्यादा बार टाई मैच खेलने का रिकॉर्ड वेस्टइंडीज टीम के नाम हो गया। वेस्टइंडीज  ने सबसे ज्यादा 10 बार टाई मैच खेला है। उसके बाद भारत और ऑस्ट्रेलिया संयुक्त रूप से 9 टाई मैच खेलकर दूसरे नंबर पर है।
(14) शाई होप का यह दूसरा वनडे शतक था और दोनों लगाए गए शतक टाई पर खत्म हुआ। वह ऐसा करने वाले दुनिया के पहले बल्लेबाज बने गए जिन्होंने टाई मैच में दो शतक लगाए हो। होप ने अपना पहला शतक  जिंबाब्वे के  खिलाफ 2016 में  लगाया था और वह मैच भी टाई पर समाप्त हुआ था।
(15) विराट कोहली ने नाबाद 157 रन बनाए और यह एंड्रयू स्ट्रॉस (158)  के बाद टाई मैच में में दूसरा सबसे उच्च व्यक्तिगत स्कोर है।
(16) महेंद्र सिंह धोनी वसीम अकरम, आमिर सोहेल और इंजमाम  उल हक के बाद चौथे ऐसे खिलाड़ी बने जो 6 बार  वनडे में टाई मैच का हिस्सा रहे है।
Powered by Blogger.