PAK vs NZ 1st T20 Highlights : पाकिस्तान ने न्यूजीलैंड को रोमांचक मुकाबले में 2 रनो़ं से हराया

पाकिस्तान ने बुधवार को पहले T20 मैच में न्यूजीलैंड को रोमांचक मुकाबले में 2 रनों से हराया। पहले बल्लेबाजी करते हुए पाकिस्तान ने 20 ओवरों में 6 विकेट खोकर 148 रन बनाए जवाब में न्यूजीलैंड की टीम 20 ओवरों में 146 रन ही बना सकी और 2 रन से मैच हार गई।
मैच का अंतिम ओवर काफी रोमांचक रहा । अंतिम ओवर में न्यूजीलैंड को जीतने के लिए जहां 17 रनों की जरूरत थी और बल्लेबाजी विस्फोटक बल्लेबाज रॉस टेलर और टिम साउथी कर रहे थे, वहीं पाकिस्तान के कप्तान सरफराज अहमद ने  गेंदबाजी का भार 18 वर्षीय युवा तेज गेंदबाज शाहीन अफरीदी को दिया। शाहीन अपने कप्तान के  भरोसे में खरे उतरे और कमाल की गेंदबाजी करते हुए रॉस टेलर जैसे दिक्कत बल्लेबाज के होते हुए भी 14 रन दिए और टीम को 2 रन से जीत दिलवाई।

Mohammad Hafeez
 हाफिज चौका जड़ते हुए
शाहीन अफरीदी की पहली गेंद पर रॉस टेलर ने मिड ऑफ पर खेलकर एक रन लिया। दूसरी गेंद को टिम साउथी ने फाइन लेग में खेलकर चौका जड़ा। तीसरी गेंद  शाहिन ने फुलटॉस फेंकी लेकिन साउथी 1 रन ही बना सका। शाहीन की चौथी और पांचवी गेंद पर  टेलर ने दो - दो रन लिए। अब मैच काफी काफी रोमांचक हो गया लेकिन पाकिस्तान ने अपनी हार लगभग टाल ली थी क्योंकि एक गेंद मेें न्यूजीलैंड को जीतने के लिए 7 रनों की आवश्यकता थी। मैच अब टाई होता है या फिर पाकिस्तान जीतता। न्यूजीलैंड मैच तभी जीत सकता था यदि शाहीन कोई अतिरिक्त गेंद फेंकता । पर ऐसा नहीं हुआ, शाहीन की अंतिम गेंद पर रॉस टेलर चौका ही मार सके और पाकिस्तान ने 2 रन से मैच को अपने नाम किया।
सरफराज अहमद ने आबूधाबी के  शेख जायेद क्रिकेट स्टेडियम में टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। पाकिस्तान टीम की शुरुआत बहुत खराब रही और उसने 8 रन के स्कोर पर तीसरे ओवर में इनफॉर्म बेस्टमैन बाबर आजम के रूप में अपना पहला विकेट खो दिया। बाबर (7) मिल्ने की बाहर जाती गेंद को कट करने की कोशिश में विकेटकीपर को कैच थमा बैठे। साहिबजादा फरहान (1)भी ज्यादा देर तक क्रीज पर टिक नहीं सके और  अजज पटेल का पहला अंतरराष्ट्रीय शिकार बने।
पाकिस्तान ने 3.1 ओवर में 10 रन पर 2 विकेट खोकर मुश्किल स्थिति में दिख रही थी । ऐसे समय में मोहम्मद हाफिज और आसिफ अली ने  टीम को संभाला और तीसरे विकेट के लिए अर्धशतकीय साझेदारी दिया। मिल्ने ने हाफिज  को आउट कर इन दोनों के जोड़ी को तोड़ा। हाफिज और अली ने 51 गेंदों में 67 रनों की पार्टनरशिप दिया और हाफिज ने 36 गेंदों में 5 चौके और दो छक्के की मदद से 45 रनों की पारी खेली। आसिफ अली भी  कुछ देर बाद ग्रैंडहोम की गेंद पर ग्लेन फ्लिप्स को कैच थमाकर चलते बने। उन्होंने 21 गेंदों में 24 रन बनाए जिसमें एक चौका और एक छक्क शामिल है। कप्तान सरफराज अहमद के 26 गेंदों में 34 रन और इमाद वसीम के अंतिम ओवरों में 5 गेंदों में 14 रनों की तेजतर्रार पारी की बदौलत पाकिस्तान ने 20 ओवर में 148 रन बनाया।
पाकिस्तान द्वारा दिए गए 149 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी न्यूजीलैंड टीम के सलामी बल्लेबाज कॉलिन मुनरो और ग्लेन फ्लिप्स ने शानदार शुरुआत दी। इन दोनों बल्लेबाजों खासकर, मुनरो ने  पाकिस्तान के गेंदबाजों की धुनाई करते हुए 34 गेंदों में 50 रन स्कोरबोर्ड पर जोड़ दिए। पाकिस्तान को पहली सफलता हसन अली ने दिलाई ।उन्होंने ग्लेन फ्लिप्स (12) को क्लीन बोल्ड किया। पहला विकेट गिरने के बाद भी मुनरो का बल्ला थमा नहीं और उन्होंने बेहतरीन बल्लेबाजी करते हुए अपना आठवां T20 अर्धशतक पूरा किया। मुनरो 50 रन बनाने के बाद अपनी पारी में सिर्फ 8 रन ही जोड़ पाए और शदाब खान की गेंद पर आसिफ अली को कैच दे बैठे। उन्होंने अपनी पारी में 42 गेंद खेलते हुए 6 चौके और 3 छक्केे लगाए।
कॉलिन मुनरो के आउट होते ही न्यूजीलैंड टीम लड़खड़ा गई और उसने दो विकेट जल्दी खो दिए। कप्तान केन विलियमसन 11 रन बनाकर इमाद वसीम  की गेंद पर उसी को कैच थमा कर चलते बने। ग्रैंडहोम दुर्भाग्यशाली रहे और रन आउट हो गए। न्यूजीलैंड का स्कोर एक समय 11.2 ओवर में 79/1 था और उसने तीन विकेट जल्दी खो दिए और स्कोर 13.4 ओवर में 83/4 हो गया। रॉस टेलर और कोरी ने पांचवें विकेट के लिए 33 रनों की साझेदारी दी लेकिन बहुत धीमी। इन दोनों बल्लेबाजों ने 27 गेंदों में 33 रन जोड़े जिसके कारण रन गति काफी बढ़ गई और न्यूजीलैंड को मैच जीतने के लिए 12 गेंदों में 26 रनों की जरूरत थी।
कोरी एंडरसन इसी दवाब में आकर अपना विकेट गंवा बैठे। उन्होंने 19 वें ओवर में हसन अली की पहली गेंद पर लॉन्ग आन में छक्का मारना चाहा लेकिन बाउंड्री में खड़े शोएब मलिक को कैच थमा बैठे। हसन अली ने उसी ओवर में शेफर्ट को आउट कर न्यूजीलैंड को मुश्किल में डाल दिया। न्यूजीलैंड को अंतिम ओवर में जीतने के लिए 17 रनों की दरकार थी लेकिन 14 रन ही बना सकी और 2 रन से मैच हार गई।
पाकिस्तान के गेंदबाज शादाब खान, इमाद वसीम, हसन अली और शाहिद अफरीदी ने एक बार फिर मिडिल ओवर में बेहतरीन गेंदबाजी का प्रदर्शन किया। ऑस्ट्रेलिया को 3-0 से मात देने में इन गेंदबाजों  का विशेष हाथ है। इन सभी पाकिस्तान गेंदबाजों ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मिडिल ओवर में बहुत कम रन खर्च किए जिस कारण अंतिम ओवरों में बल्लेबाजों पर काफी दवाब आ गया और उसने अपने विकेट  खोए।
न्यूजीलैंड के खिलाफ भी ऐसा ही हुआ। कॉलिन मुनरो ने शुरुआत बहुत अच्छी दी लेकिन बीच के ओवरों में पाकिस्तान के गेंदबाजों ने शानदार वापसी करते हुए विकेट लेने के साथ रन भी कम दिए और दवाब में आकर न्यूजीलैंड के बल्लेबाजों ने अंतिम ओवरों में अपने विकेट गवाएं।
मैच समाप्त होने के बाद दोनों टीमों के कप्तानों और मोहम्मद हफीज ने क्या कहा,जानते हैं –
सरफराज अहमद (कप्तान, पाकिस्तान) : जीत का श्रेय गेंदबाजों को देना चाहता हूं। स्थिति बहुत नाजुक थी। हमने अच्छी बल्लेबाजी नहीं की। लेकिन हम जानते थे, अगर हम 150 तक स्कोर बना लेते हैं तो हमारे गेंदबाज मैच को बचा लेंगे। हाफिज बेहतरीन लय में बल्लेबाजी कर रहे हैं और मैंने भी कुछ रन बनाकर टीम को मदद किया। न्यूजीलैंड एक अच्छु प्रतिद्वंदी टीम है। उसने पावर प्ले में 50 रन बना  लिए लेकिन हम जानते थे, हम मैच में वापसी कर सकते हैं। आज औंस  गिर रही थी। हमें देखना है कि आने वाले मैचों में यह  किस प्रकार प्रभावित करता है।
केन विलियमसन (कप्तान, न्यूजीलैंड) : जब आप मैच हारते है तो अपनी कमजोरी को देख सकते हैं और  आप सकारात्मक सोच के साथ बाहर निकलते हैं। यह बहुत अच्छा मैच था, पाकिस्तान निसंदेह जीत का हकदार है लेकिन हमें सीखने की जरूरत है तभी सीरीज में आगे बढ़ सकते हैं। यहां का मौसम ऐसा ही है। आप 1 महीने पहले से इसे देख सकते हो। मुझे इस बात की खुशी है कि हमने अच्छी शुरुआत किया। कॉलिन मुनरो ने बहुत अच्छा खेला, कुछ खिलाड़ी को छोड़कर। स्पिन गेंदबाज बीच के ओवरों में मैच को बदल सकते है। हमने बहुत ज्यादा डॉट गेंदें खेली जिसके कारण अंतिम ओवरों में बल्लेबाजों पर काफी दबाव आ गया। हमारे पास ऐसे खिलाड़ी बहुत है जो जो बेहतरीन क्षेत्ररक्षण करते हैं,आप देख सकते हैं। हमलोग आज जीत के बहुत करीब थे। जब आप अगले गेम में जाते हैं तो यह बहुत ही मायने रखता है।
 मोहम्मद हफीज ( मैन ऑफ द मैच, पाकिस्तान) : जीत से बहुत खुश हूं। जब आप अपने गेंदबाजी एक्शन में सुधार करते हैं तो यह बहुत ही मुश्किल होता है। मैंने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन देने की कोशिश किया । टीम के जरूरत  के हिसाब से मैंने खेला। इस फॉर्मेट में आपके पास समय बहुत कम रहता है। हमने महसूस किया कि 10 से 15 रन कम बनाए हैं लेकिन हमने इसी लक्ष्य को बनाने नहीं दिया, यह  गर्व की बात है।
Powered by Blogger.