सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी के फाइनल में कर्नाटक ने तमिलनाडु को 1 रन से हराया

Image
Syed Mushtaq Ali Trophy, Final, Karnataka vs Tamilnadu, Highlights:  सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी का फाइनल मैच रविवार को सूरत के लालभाई कांट्रेक्ट स्टेडियम में कर्नाटक और तमिलनाडु के बीच खेला गया। कर्नाटक ने बेहद ही रोमांचक मुकाबले में तमिलनाडु को 1 रन से हराकर लगातार दूसरी बार सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी का खिताब अपने नाम किया।
कर्नाटक ने कप्तान मनीष पांडे के नाबाद 60 रन की बदौलत 20 ओवर में 5 विकेट खोकर 180 रन बनाए। जवाब में तमिलनाडु की टीम 20 ओवर में 6 विकेट खोकर 179 रन ही बना सकी। मनीष पांडे ने टीम की ओर से सर्वाधिक 44 रन बनाए। वहीं, बाबा अपराजित ने 40 रन का योगदान दिया। कर्नाटक के लिए रोनित मोर ने सबसे अधिक तीन विकेट चटकाए।



इससे पहले तमिलनाडु के कप्तान दिनेश कार्तिक ने टॉस जीतकर पहले कर्नाटक को बल्लेबाजी के लिए आमंत्रित किया। कर्नाटक की सधी हुई शुरुआत कर्नाटक के सलामी बल्लेबाज लोकेश राहुल और देवदत्त पाड्डिकल ने टीम को शानदार शुरुआत दिलाई। दोनों ने पहले विकेट के लिए 4.2 ओवर में  39 रन जोड़े।


आर अश्विन की शानदार गेंदबाजी कर्नाटक की खतरनाक हो रही जोड़ी को रविचंद्र अश्विन ने तोड़ा। अश्विन ने …

ICC CWC 2019, Semi-Final 1: India vs New Zealand - न्यूजीलैंड लगातार दूसरी बार फाइनल में, भारत को 18 रनों से हराया

न्यूजीलैंड ने बुधवार को सेमीफाइनल मुकाबले में भारत को हरा आईसीसी विश्व कप 2019 के फाइनल में जगह बना ली। न्यूजीलैंड लगातार दूसरी बार फाइनल में पहुंची है। उसने 2015 विश्व कप में भी फाइनल खेला था...


मैनचेस्टर: भारतीय टीम का आईसीसी विश्व कप 2019 के फाइनल में पहुंचने का सपना टूट गया। भारतीय टीम मैनचेस्टर के ओल्ड ट्रैफर्ड मैदान में न्यूजीलैंड से सेमीफाइनल मुकाबले में 18 रनों से हारकर बाहर हो गई। अब न्यूजीलैंड का फाइनल में सामना गुरुवार को ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैडं के बीच होने वाले दूसरे सेमीफाइनल के विजेता से होगा। न्यूजीलैंड की टीम लगातार दूसरी बार फाइनल में पहुंची है। कीवी टीम ने 2015 विश्व कप में दक्षिण अफ्रीका को हराकर फाइनल में कदम रखा था। हालांकि, फाइनल में उसे ऑस्ट्रेलिया से शिकस्त का सामना करना पड़ा था। वहीं, भारतीय टीम लगातार दूसरी बार हारकर सेमीफाइनल से बाहर हुई। भारत को पिछले विश्व कप सेमीफाइनल में ऑस्ट्रेलिया के हाथों हार झेली पड़ी थी।
बारिश की वजह से निर्धारित दिन मंगलवार को खेल पूरा नहीं हो सका था। ऐसे में मैच बुधवार को पूरा हुआ। मंगलवार को जब बारिश आई तब न्यूजीलैंड का स्कोर 46.1 ओवरों में पांच विकेट के नुकसान पर 211 रन था। ​मैच बुधवार (रिजर्व डे) को यहीं से आगे शुरू हुआ और कीवी टीम ने 50 ओवरों में आठ विकेट गंवाकर 239 रन बनाए।न्यूजीलैंड ने भारत के सामने जीत के लिए 240 रन की चुनौती पेश की। जवाब में भारतीय टीम न्यूजीलैंड के गेंदबाजों का डटकर सामना नहीं कर पाई और 49.3 ओवरों में 221 रन बनाकर ढेर हो गई।
भारत के लिए रवींद्र जडेजा (77) ने सबसे ज्यादा रन बनाए। उन्होंने 59 गेंदों में 4 चौके और 4 छक्के जमाए। उनके अलावा महेंद्र सिंह धोनी ने (50) मुश्किल वक्त में शानदार पारी खेली। उन्होंने 72 गेंदों में 1 चौका और 1 छक्का जड़ा। भारत की खराब शुरुआत के बाद सिर्फ जडेजा और धोनी ही थे जो आखिर तक डटे रहे। दोनों ने सातवें विकेट के लिए 116 की साझेदारी की। जब तक यह दोनों खिलाड़ी क्रीज पर थे लग रहा था कि भारत मैच अपनी मुठ्ठी में कर सकता है। लेकिन 48वें ओवर की पांचवीं गेंद पर जडेजा के आउट होने से टीम की उम्मीदें लड़खड़ाने लगीं। जडेजा को ट्रेंट बोल्ट ने आउट किया। इसके बाद धोनी के 49वें ओवर की की तीसरी गेंद पर रनआउट होने से भारत की रही-सही उम्मीदें भी खत्म हो गईं।
भारत को आखिरी दो ओवर में जीत के लिए 37 रन की दरकार थी। मगर अहम समय पर न्यूजीलैंड ने इन दोनों के विकेट लेकर भारत को हार के मुंह में धकेल दिया। भारत की खस्ता हालत का अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि उसकी आधी टीम 71 के कुल स्कोर पर पवेलियन लौट चुकी थी। इन विकेटों में रोहित शर्मा (1), विराट कोहली (1), (लोकेश राहुल (1), दिनेश कार्तिक (6) और रिषभ पंत (32) शामिल थे।वहीं, हार्दिक पांड्या (32), भुवनेश्वर कुमार (0) और युजवेंद्र चहल (5) ज्यादा कुछ नहीं कर पाए। जसप्रीत बुमराह बिना खाता खोले पवेलियन लौटे। न्यूजीलैंड की ओर से मैट हेनरी ने तीन, ट्रेंट बोल्ड और मिशेल सेंटनर ने दो-दो विकेट चटकाए। इनके अलावा लॉकी फॉर्ग्यूसन और जिम्मी नीशम ने एक-एक विकेट अपने नाम किया।
इससे पहले न्यूजीलैंड की तरफ से सर्वाधिक रन रॉस टेलर (74) ने बनाए। उन्होंने 90 गेंदों की अपनी पारी में 3 चौके और 1 छक्का लगाया। उनके अलावा केन विलियम्सन (67), हेनरी निकोलस (28), कोलिन डी ग्रांडहोम (18), जिम्मी नीशम (12), टॉम लाथम (10), मार्टिन गुप्टिल (1) और मैट हेनरी ने 1 रन का योगदान दिया। इसके अलावा मिशेल सेंटनर 9 और ट्रेंट बोल्ट 3 रन बनाकर नाबाद रहे। भारत के लिए भुवनेश्वर कुमार ने तीन, जसप्रीत बुमराह, हार्दिक पांड्या, रवींद्र जडेजा और युजवेंद्र चहल ने एक-एक विकेट हासिल किया। वहीं, न्यूजीलैंड का एक बल्लेबाज रन आउट होकर पवेलियन लौटा।
लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय ने निराशाजनक आगाज किया। न्यूजीलैंड ने शानदार गेंदबाजी करते हुए भारत के शीर्ष क्रम को तहस-नहस कर दिया। भारत के तीन बल्लेबाज 5 के कुल स्कोर पर पवेलियन लौट गए। बेहतरीन फॉर्म में चल रहे सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा इस अहम मुकाबले में सस्ते में अपना विकेट गंवा बैठे। वह चार गेंदें खेलकर सिर्फ एक रन ही बना सके। उन्हें मैट हेनरी ने दूसरे ओवर की तीसरी गेंद पर विकेटकीपर टॉम लाथम के हाथों लपकवाया।
इसके बाद क्रीज पर आए कप्तान विराट कोहली भी टिककर बल्लेबाजी करने में नाकाम रहे और 1 रन के निजी स्कोर पर आउट हो गए। उन्हें ट्रेंट बोल्ट ने तीसरे ओवर की चौथी गेंद पर एलबीडब्ल्यू आउट किया। हालांकि, कोहली अंपायर के फैसले से सहमत नहीं दिखे। उन्होंने रिव्यू लेने का निर्णय लिया। रिव्यू में नजर आया कि गेंद स्टंप को छूते हुए जा रही थी। अंपायर्स कॉल के चलते रिव्यू बच गया लेकिन कोहली को पवेलियन लौटना पड़ा। भारत को तीसरा झटका सलामी बल्लेबाज लोकेश राहुल के तौर पर लगा। कोहली के आउट होने के बाद राहुल चौथे ओवर की पहली गेंद पर पवेलियन लौट गए। वह भी 1 रन ही बना पाए। उन्हें हेनरी ने विकेट के पीछ लाथम के हाथों कैच आउट कराया। लाथम ने अपनी दाईं तरफ कूदते हुए शानदार कैच लपका।
पांचवें नंबर पर बल्लेबाजी के लिए आए अनुभवी खिलाड़ी दिनेश कार्तिक से टीम को बड़ी पारी की उम्मीद थी लेकिन वह आशानुरूप प्रदर्शन करने में सफल नहीं रहे। कार्तिक 25 गेंदों में महज 6 रन ही बना पाए। तीन बल्लेबाजों के जल्द आउट होने के दबाव उनपर साफ नजर आया। उन्हें अपना खाता खोलने के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ी। उन्होंने 21 गेंदों में चौका जड़कर अपना खाता खोला। उन्हें भी हेनरी ने ही पवेलियन की राह दिखाई। कार्तिक 10वें ओवर की आखिरी गेंद पर गलत शॉट बैठे और प्वाइंट पर जिम्मी नीशम के हाथों लपके गए। उनका विकेट 24 के कुल स्कोर पर गिरा। उन्होंने चौथे विकेट के लिए रिषभ पंत के साथ 19 रन जोड़े।
भारत को पांचवां झटका युवा विकेटकीपर बल्लेबाज रिषभ पंत के रूप में लगा। पंत ने संभलकर बल्लेबाजी की मगर वह बड़ी पारी नहीं खेल सके। उन्होंने 56 गेंदों में 4 चौकों की मदद से 32 रन बनाए। उन्हें मिशेल सेंटनर ने 23वें ओवर की पांचवीं गेंद पर अपना शिकार बनाया। उन्होंने सेंटनर की गेंद पर छक्का मारने की कोशिश में कोलिन डी ग्रांडहोम को कैच थमा दिया। वह 71 के कुल स्कोर पर पवेलियन लौटे। उन्होंने पांचवें विकेट के लिए हार्दिक पांड्या के साथ 47 रन की साझेदारी की।

(मंगलवार के दिन का खेल) न्यूजीलैंड की हुई थी खराब शुरुआत

टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी न्यूजीलैंड टीम की शुरुआत बेहद खराब रही। हेनरी निकोलस के साथ पारी का आगाज करने आए मार्टिन गुप्टिल 14 गेंदों में महज 1 रन बनाकर पवेलियन लौट गए। उन्हें चौथे ओवर की तीसरी गेंद पर अपना शिकार बनाया। वह बुमराह की गेंद पर गलत शॉट खेल बैठे और गेंद बल्ले का बाहरी किनारा लेकर दूसरी स्लिप में खड़े विराट कोहली के हाथों चली गई। गुप्टिल शुरू से भारतीय गेंदबाजों के सामने सहज नजर नहीं आए। उन्हें अपना खाता खोलने के लिए 11 गेंदें खेलनी पड़ीं। भारत की ओर से गेंदबाजी की कमान भुवनेश्वर कुमार ने संभाली। भुवनेश्वर ने मैच की पहली गेंद पर गप्टिल के खिलाफ एलबीडब्ल्यू की अपील की लेकिन अपंयार ने नकार दिया। इसके बाद भारत ने रिव्यू लिया मगर फैसला बल्लेबाज के पक्ष में रहा। दरअसल, गेंद लेग स्टंप को मिस कर रही थी। गुप्टिल का बल्ला इस विश्व कप में खामोश रहा है। उन्होंने लीग चरण में सिर्फ श्रीलंका के खिलाफ ही अर्धशतकीय पारी खेली थी।
न्यूजीलैंड को दूसरा झटका सलामी बल्लेबाज हेनरी निकोलस के रूप में लगा। मार्टिन गुप्टिल के आउट होने के बाद निकोलस ने संभलकर बल्लेबाजी की। हालांकि, वह बड़ी पार नहीं खेल पाए। उन्होंने 51 गेंदों में 2 चौकों की मदद से 28 रन बनाए। उन्हें रवींद्र जडेजा ने 19वें ओवर की दूसरी गेंद पर पवेलियन की राह दिखाई। वह जडेजा की गेंद को पिच पर पड़ने के बाद भांप नहीं पाए और बोल्ड हो गए। उनका विकेट 69 के कुल स्कोर पर गिरा। उन्होंने दूसरे विकेट के लिए केन विलियम्सन के साथ 68 रन की साझेदारी की। निकोलस को कॉलिन मुनरो की जगह टीम में शामिल किया गया है। उन्होंने मौजूदा टूर्नामेंट में अब तक दो ही मैच खेले हैं। वह पिछले मैच में इंग्लैंड के खिलाफ बिना खाता खोले आउट हो गए थे।
तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी के लिए आए कप्तान केन विलियम्सन ने टिककर बल्लेबाजी की। उन्होंने दो अहम साझेदारियां कर टीम को लड़खड़ाने से बचाया। हेनरी निकोलस के बाद उन्होंने रॉस टेलर के साथ तीसरे विकेट के लिए 65 रन जोड़े। हालांकि, विलियम्सन ने धीमी गति से रन जुटाए। उन्होंने 95 गेंदों में 67 रन की पारी खेली। इस दौरान उन्होंने 6 चौके लगाए। उन्हें 36वें ओवर की दूसरी गेंद पर युजवेंद्र चहल ने आउट किया। वह चहल की गेंद पर प्वाइंट पर रवींद्र जडेजा के हाथों लपके गए। उनका विकेट 134 के कुल स्कोर पर गिरा। विलियम्सन ने 79 गेंदों में अपने वनडे करियर का 39वां अर्धशतक पूरा किया।विलियमसन ने 19वां रन लेते ही एक विशेष उपलब्धि अपने नाम कर ली। वह विश्व कप के एक संस्करण में 500 या इससे ज्यादा रन बनाने वाले दूसरे कीवी बल्लेबाज बन गए हैं। उनसे पहले मार्टिन गुप्टिल ने 2015 विश्व कप में 547 रन बनाए थे।
न्यूजीलैंड का चौथा विकेट ऑलराउंडर जिम्मी नीशम के तौर पर गिरा। केन विलियम्सन के पवेलियन लौटे पर बल्लेबाजी के लिए आए नीशम सस्ते में अपना विकेट गंवा बैठे। उनसे टीम को ताबड़ोतड़ बल्लेबाजी की उम्मीद थी लेकिन वह आशानुरूप प्रदर्शन करने में कामयाब नहीं रहे। वह 18 गेंदों में 1 चौके की मदद से सिर्फ 12 रन ही बना सके। उन्हें हार्दिक पांड्या ने 41वें ओवर की आखिरी गेंद पर पवेलियन भेजा। उन्होंने बड़ा शॉट मारने की फिराक में दिनेश कार्तिक को कैच थमा दिया। उनका विकेट 162 के कुल स्कोर पर गिरा। उन्होंने रॉस टेलर के साथ चौथे विकेट के लिए 28 रन की पार्टनरशिप की।
नीशम इस विश्व कप में पाकिस्तान के खिलाफ मैच को छोड़कर अपनी छाप छोड़ने में सफल नहीं हो सके हैं। उन्होंने पाकिस्तान के विरुद्ध नाबाद 97 रन की पारी खेली थी। इसके बाद कोलिन डी ग्रांडहोम (16) ज्यादा कुछ कर नहीं पाए और भुनेश्वर कुमार का शिकार बन गए। भुवी ने ग्रांडहोम 45वें ओवर की चौथी गेंद पर विकेट के पीछे महेंद्र सिंह धोनी के हाथों लपकवाया। वह 200 के कुल स्कोर पर पवेलियन लौटे।
आईसीसी के नियम के तहत विश्व कप में नॉकआउट दौर में रिजर्व डे का विकल्प है। इस नियम के अनुसार मैच की निर्धारित तारीख के दिन यदि मैच पूरा नहीं हो पाता है तो ऐसे में अगले दिन मैच वहीं से शुरू होगा जहां पहले दिन समाप्त हुआ था। 1999 में इंग्लैंड में खेले गए विश्व कप में भारत और इंग्लैंड के बीच मैच में ऐसा हो चुका है।न्यूजीलैंड ने इस मैच में टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का निर्णय किया था।न्यूजीलैंड ने अपनी टीम में एक बदलाव किया। न्यूजीलैंड ने टिम साउदी की जगह लॉकी फॉर्ग्युसन को अंतिम एकादश में शामिल किया।फॉर्ग्युसन को चोटिल होने की वजह से पिछले मैच में आराम दिया गया था। वहीं, भारत ने भी अपनी टीम में एक बदलाव किया। भारत ने कुलदीप यादव के स्थान पर युजवेंद्र चहल को मौका दिया।
दोनों टीमों के बीच निर्धारित ग्रुप स्टेज का मुकाबला बारिश के कारण रद्द हो गया था और अब इत्तेफाक से ये दोनों टीमें फिर आमने-सामने आ गई और आखिरकार इनकी भिड़ंत देखने को मिलेगी। दोनों टीमें जीत दर्ज करके फाइनल में जगह बनाने के इरादे से मैदान पर उतरी थीं। भारत और न्यूजीलैंड के बीच प्रतिद्वंद्विता हमेशा ही कांटे की रही है। दोनों टीमों में एक से एक धाकड़ खिलाड़ी मौजूद हैं और दोनों ही टीमें अपनी पूरी जान झोंकने के लिए तैयार हैं।
भारतीय टीम ने ग्रुप स्टेज में सिर्फ एक हार (इंग्लैंड के खिलाफ) का सामना किया और वे अंक तालिका में शीर्ष पर रहे जबकि न्यूजीलैंड की टीम 9 में से कुल 5 मैच जीतने में सफल रही, उसे 3 मैचों में हार मिली और एक मैच बारिश के कारण रद्द रहा, जिसके बाद वे अंक तालिका में चौथे स्थान पर रहे और किस्मत व बेहतर नेट रन रेट के भरोसे पाकिस्तान को बाहर का रास्ता दिखाते हुए सेमीफाइनल तक पहुंचे।
जिन खिलाड़ियों पर भारतीय क्रिकेट फैंस की नजरें रहने वाली हैं उसमें सबसे ऊपर नाम आता है ओपनर रोहित शर्मा का जो इस समय अपने सर्वश्रेष्ठ फॉर्म में चल रहे हैं। विश्व कप 2019 में अब तक वो 5 शतक जड़ चुके हैं जो अपने आप में रिकॉर्ड है। जबकि इसमें से तीन शतक लगातार पिछले तीन मैचों में आए हैं और आज वो शतकों का चौका लगाना चाहेंगे। टीम में जसप्रीत बुमराह, लोकेश राहुल और विराट कोहली से भी सभी को उम्मीदें रहेंगी।

ये हैं दोनों टीमें:

भारतीय टीम: विराट कोहली (कप्तान), लोकेश राहुल, रोहित शर्मा, रिषभ पंत, महेंद्र सिंह धोनी (विकेटकीपर), हार्दिक पंड्या, दिनेश कार्तिक, युजवेंद्र चहल, भुवनेश्वर कुमार, रविंद्र जडेजा और जसप्रीत बुमराह।
न्यूजीलैंड टीम: केन विलियमसन (कप्तान), मार्टिन गुप्टिल, हेनरी निकोल्स, रॉस टेलर, टॉम लाथम (विकेटकीपर), कोलिन डी ग्रांडहोम, जिम्मी नीशम, ट्रेंट बोल्ट, लॉकी फॉर्ग्युसन, मैट हेनरी और मिशेल सेंटनेर।

Popular posts from this blog

IPL 2019 Qualifier 1: MI vs CSK - Watch match highlights and all videos

IPL 2019 Final: MI vs CSK - Watch match highlights and all videos

क्रिकेट रिकॉर्ड : वनडे में 1 से 11 तक सबसे अधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज